वरिष्ठ भाजपा नेता और अभिभाषक अनोखीलाल मेहता बने स्थानकवासी जेन श्रावक संघ के अध्य्क्ष तो विनोद बाफना बने सचिव

62

 

आजकल व्यक्ति संसार मार्ग पर चलने में थकता नहीं है पर धर्म आराधना के मार्ग पर थक जाता है ,भगवान ने संसार का मार्ग भी बताया है तो मोक्ष का मार्ग भी बताया है संसार का मार्ग चोरासी लाख योनियों में भटकाने वाला है तो धर्म को समझने पर उसके दिखाए मार्ग पर चलकर मोक्ष भी पाया जा सकता है घानी के बेल की आंखों पर पट्टी है तो संसारी की आंख पर मोह की पट्टी बंधी है जिससे वह घूमता ही रहता है पर मंजिल नहीं पाता है संसार कि असारता को समझ कर ही जीव मोक्ष पा सकता है उक्त बात पेटलावद गौरव साध्वी श्री सुब्रता जी ने पाक्षीक पर्व पर आयोजित धर्मसभा को संबोधित करते हुए कही आपने कहा पर्व तिथियों पर धर्म आराधना तप आराधना व आध्यात्मिक आराधना करके पर्व दिवस को सफल बनाना चाहिए साध्वीश्री सारिका जी ने कहा वर्तमान समय मे समकित भाव आना भी केवल ज्ञान से कम नहीं है, लाभ अलाभ की स्थिति में उदासीन रहने वाला धर्म स्थान में हमेशा जागृत रहता है ।
पक्षी पर्व पर 11 से ज्यादा एकासने 25 से ज्यादा उपवास एक बेलै तप की आराधना हुई।
रविवार को श्री वर्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ की साधारण बैठक स्वाध्याय भवन पर आयोजित की गई जिसमें सर्वप्रथम नवकार मंत्र का जाप किया गया फिर निवृत्त मान कार्यकारिणी द्वारा आय-व्यय का ब्योरा प्रस्तुत किया गया अपने कार्यकाल में हुए कार्यों का ब्यौरा दिया गया व वर्ष 2022में पूण्य पूजं पूण्य शीला जी के होने वाले चातुर्मास को सफल बनाने हेतु अनुरोध के साथ क्षमा याचना निवृतमान सचीव नीरज जैन द्वारा की गई।

नवीन कार्यकारिणी हुई गठित
पश्चात नवीन कार्यकारिणी के निर्वाचन की प्रक्रिया संपन्न की गई जिसमें वरिष्ठ अभिभाषक श्री अनोखेलाल मेहता को अध्यक्ष श्री मणीलाल चाणोदीया व श्री महेंद्र कटकानी को उपाध्यक्ष श्री विनोद बाफना को सचिव विमल मोदी को कोषाध्यक्ष व संतोष गुजराती को सह कोषाध्यक्ष सर्वानुमति से बनाया गया, नवीन कार्यकारणी ने पद ग्रहण करने के साथ ही कहा आगामी चातुर्मास हेतु शीघ्र ही समिति बना कर ऐतिहासिक बनाने का निर्णय लिया जाएगा।
निवर्तमान अध्यक्ष नरेंद्र मोदी उपाध्यक्ष सोहन चाणोदीया सचीव नीरज जैन कोषाध्यक्ष अशोक मेहता का आभार व्यक्त किया गया वरिष्ठ श्रावक राजेंद्र कटकानी द्वारा मंगल पाठ सुनाये जाने के पश्चात सभा का विसर्जन किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here