हम तो नही मानेंगे क्योंकि हम है फर्जी बंगाली डॉक्टर।

365

दिलीपसिंह भूरिया

अलीराजपुर जिले के फर्जी बांग्लादेशी बंगालियों की कहानी ही अजीब है और वह यह की बिना डरे बेखौफ अपना क्लिनिक और हॉस्पिटल चलाने दे और जांच में जिले के मुख्यचिकित्सक महोदय अलीराजपुर में बंगाली फर्जी डॉक्टरों के क्लिनिक और हॉस्पिटल और डॉक्टरों की जांच के लिए स्वयं नही जिले की नर्स को भेजते है ।जिनको यह नहीं पता की जांच कोन करता है। शेखी बघार कर अपनी वीडियो बनवाकर अधिकारी और कर्मचारी की नजरो में लेडी सिंघम या किरण बेदी बनने के चक्कर में अपनी यह भूल उसके लिए कितनी बड़ी भूल है ।की उसको किसी भी प्रकार के जांच के अधिकार ही नहीं है ।सिर्फ जिला चिकित्सक के कहने पर सिर्फ जांच के लिए चले जाना जिला मुख्यचिकित्स की सबसे बड़ी काबिलियत और उनकी गैर जिम्मेदाराना रवैए को साबित करता है ।की जिले के प्रशासनिक अधिकारियों ने किस व्यक्ति को इस जिले के मानवों और इंसानों की जिंदगी की जिम्मेदारियां दी है जिनको इंसानी जिंदगियों की कुछ परवाह ही नही की उनकी एक लापरवाही पूरे जिले के आम लोगो के शरीर में दवाई के रूप में बिना किसी प्रामाणिकता के जहर भर रहे है ।इनकी जांच होनी चाहिए और ऐसे जिले और तहसील और नगर स्तर के सभी डॉक्टरों को निलंबित कर देना चाहिए ।जो आखों मूंदे सिर्फ तमाशा देख रहे है ।

जांच का यह वीडियो कब का है यह सोसल मीडिया से मिला है ।जिसमें नानपुर और अलीराजपुर जिले के फर्जी डॉक्टरों की जांच की जा रही है ।परंतु वॉइस ऑफ झाबुआ इसकी पुष्टि नहीं करता ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here