1 हजार 250 दिनों बाद पुनः शुरू हुई चर्च में प्रार्थनाएं

129

 

1 हजार 250 दिनों बाद पुनः कैथोलिक चर्च झाबुआ में विधी विधान से पवित्र मिस्सा बलिदार प्रारंभ हुआ। 25 मार्च 2019 स्वर्गीय बिशप बेसील भूरिया एसवीडी के द्वारा पवित्र मिस्सा बलिदान अर्पित किया गया था, उसके बाद गिरजा घर के जिर्णोद्धार का कार्य शुरू किया गया था। 3 गर्मी, 3 बारिश ओर 2 शीत ऋतुओं को ईसाइ समाज द्वारा सहन कर बाहर खुले में प्रार्थनाएं की जा रही थी। 23 अगस्त 2022 से धर्मावलंबियों ने चर्च के अंदर प्रार्थना शुरू कर दी थी और आज पहले रविवार 28 अगस्त 2022 के दिन समस्त ईसाइ समुदाय ने मिल कर चर्च के अंदर प्रार्थना मिस्सा बलिदार में भाग लिया। आज की प्रार्थना में विशेष रूप से देश प्रदेश एवं झाबुआ जिले के विकास व शांति सदभाव के लिए प्रार्थना की गई। विशेष प्रार्थनाओं में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान, गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा, झाबुआ जिले के प्रभारी मंत्री इंदरसिंह परमार, कलेक्टर सोमेश मिश्रा, एसडीएम लक्ष्मी नारायण गर्ग, पुलिस अधीक्षक अरविंद तिवारी एवं प्रभारी तहसीलदार आशीष राठौड के लिए ईश्वर से प्रार्थना की गई ताकि वे निरंतर प्रदेश व जिले में विकास के कार्यो को करते रहें उनके स्वस्थ्य रहने की कामना की गई ताकि वे सकुशल प्रदेश व जिले में प्रेम, भाईचारा व सदभाव बनाए रखें।
प्वित्र मिस्सा बलिदार में सैंकडों की सख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे। मुख्य याजक के रूप में फादर इम्बानाथन और फादर राॅकी उनके साथ फादर प्रताप बारिया, फादर लुकस डामोर और फादर विरेन्द्र भूरिया उपस्थित रहें। संगीत दल के द्वारा विशेष भक्ति मय गीत प्रस्तुत किए गए। लोगों में हर्ष का माहौल है कि इतने दिनों बाद चर्च के अंदर पुनः प्रार्थनाएं शुरू हुई है। लोगों ने प्रशासन का आभार माना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here