आदिवासियों के साथ किया जा रहा है छलावा आदिवासियों के नाम पर बोरी में अवेध रुप से गोदाम में रख। रखा खाद पूर्व सरपंच ने किया विरोध मगर नहीं पहुँचे ज़िम्मेदार

1142

आदिवासियों के साथ किया जा रहा है छलावा

आदिवासियों के नाम पर बोरी में अवेध रुप से गोदाम में रख। रखा खाद

पूर्व सरपंच ने किया विरोध मगर नहीं पहुँचे ज़िम्मेदार


अलिराजपुर। आदिवासी अंचल में ही बे रोकटोक आदिवासियों का शोषण किया जा रहा है.. अधिकांशतः आदिवासी समाज खेती पर ही निर्भर रहता है. मगर उन्हें कभी खाद तो कभी बीज… के नाम पर ठगा जाता है… वही फसल कटाई के बाद बड़ी महंत से फसल तैयार करता ही मगर बाद में उस ही अन्न दाता को उसकी फसल का दाम काम मिलता है… अभी बोवनी का समय है अभी भी व्यापारी घटिया ओर अधिक दाम पर इन्हें खाद बीज बेच रहे है ऐसा ही आदिवासी समाज के लोगों को लूटने का मामला बोरी शेत्र का सामने आया है जहां पूर्व सरपंच ने इस मामले को उजागर किया है।
ग्राम बोरी में पूर्व सरपंच द्वारा एक अवैध गोदाम पर छापा मार कार्रवाई की गई जिसमें बड़ी संख्या में किसानों को वितरित किए जाने वाला खाद स्टार्ट कर रखा था बताया जाता है कि खाद का लाइसेंस कहीं और का है और गोदाम कहीं और है बताया जाता है कि जिस खाद को बेचने की अनुमति नहीं है वह खादी इस गोदाम में स्टार्ट कर रखा है पूर्व सरपंच के गोदाम पर जाने के बावजूद भी अधिकारी नहीं पहुंचे और व्यापारी का बचाव करने में लगे रहे साफ जाहिर है कि किस प्रकार से आदिवासी अंचल में आदिवासी किसानों का शोषण गैर आदिवासियों के माध्यम से करवाया जा रहा है और अधिकारी आंखों पर पट्टी बांधकर बैठे हुए हैं।

उक्त गोदाम आशीष जैन नाम के व्यापारी का बताया जाता है जिसने आदिवासी समाज के एक व्यक्ति का गोदाम किराए पर ले लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here