महाविद्यालय में उत्तर प्रदेश द्वारा गोष्ठी व पुस्तक लोकार्पण विमोचन आनलाइन कार्यक्रम का आयोजन

140

 


दिलीपसिंह भूरिया

शासकीय महाविद्यालय चंद्रशेखर आजाद नगर भाबरा मे ”मध्यप्रदेश में आदिवासी समाज (कला व संस्कृति )”नामक पुस्तक प्रकाशित हुई जिसका अंतर्राष्ट्रीय शामा साहित्य संगम अलीगढ़ उत्तरप्रदेश द्वारा गोष्ठी व आनलाइन पुस्तक लोकार्पण विमोचन कार्यक्रम का आयोजन। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्राचार्य व संपादक एस0एस0 डोडवे रहे एवं अध्यक्षता संगीता राजपूत ने की। मुख्य अतिथि ने कहा म0प्र0 में आदिवासी समाज कला व संस्कृति नामक पुस्तक में शोध आलेख आमंत्रित किए गए थे। आदिवासी समाज में कला व संस्कृति की विविधताएं व संस्कृति के विभिन्न आयाम अपने क्षेत्रों के अनुरूप रहन सहन, खान पान, पहनावा , त्याैहार आदिवासी समाज में कला व संस्कृति म0प्र0 में ही नहीं अपितु पूरे विश्व में अपने आप में एक अलग पहचान देखने को मिलती है। मुख्य वक्ता डॉ0 गाैरीसिंह परते सहा0 प्राध्यापक शासकीय महाविद्यालय मेंहदवानी डिंडोरी, प्रो0 धूलसिंह खरत सहा0 प्राध्यापक शासकीय आदर्श महाविद्यालय झाबुआ, प्रो0 रिंकी भाबर राजमाता सिंधिया शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय छिंदवाड़ा, प्रो0 रविन्द्र बरडे प्राध्यापक शहीद भीमा नायक शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय बड़वानी द्वारा अपने अपने विचार रखते हुए विस्तृत रूप से जानकारी प्रदान की। म0प्र0 में आदिवासी समाज कला व संस्कृति नामक पुस्तक के संपादक व प्राचार्य एस0एस0 डोडवे के विशेष मार्गदर्शन में पुस्तक का प्रकाशित हुई। पुस्तक प्रकाशन समिति संयोजक व सहा0 संपादक बी0एल0भूरा, प्रो0 दिलीप गरवाल सहा0 संपादक, डॉ0 वीरसिंह बरडे सहा0 संपादक का विशेष सहयोग रहा।कार्यक्रम का संचालन संगीता राजपूत अलीगढ़ उत्तरप्रदेश अंतरराष्ट्रीय श्यामा साहित्य संगम की संयोजिका द्वारा किया। महाविद्यालय के प्रशासनिक अधिकारी प्रो0 मानसिंह डोडवा , प्रो0 नवनीत सांकला, डॉ0 रेशम बघेल, तकनीक समिति संयोजक प्रो0 कमलेश गणावा, डॉ0 शुभम चौहान, प्रो0 संदीप बामनिया, प्रो0 विजय कुमार अलावे, प्रो0 निलेश परमार, प्रो0 रोशनी भंवर, दिनेश बडोले द्वारा कार्यक्रम को सफल बनाने में विशेष सहयोग रहा। ये कार्यक्रम अंतरराष्ट्रीय श्यामा साहित्य संगम अलीगढ़ उत्तरप्रदेश द्वारा गोष्ठी व पुस्तक लोकार्पण आनलाइन विमोचन कार्यक्रम में म0प्र0 के विभिन्न क्षेत्रों से शोधकर्तागण, प्राध्यापकों ने बड़ सडकर सहभागिता की यह महाविद्यालय द्वारा दुसरी पुस्तक का लोकार्पण समारोह आयोजित हुआ। आभार प्रदर्शन डॉ0 वीरसिंह बरडे द्वारा व्यक्त किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here