सरकार की सद्बुद्धि के लिए बेरोजगार युवाओं ने किया यज्ञ

510

 

रितुराज

पिछले दिनों एमपीटीईटी के व्हाट्सएप सोसियल मीडिया पर वाइरल हुए थे आंसरशीट ,जिसमे 12 लाख से ज़्यादा विद्यार्थी शामिल हुए थे,जिसमे जांच की मांग व अन्य मांगों के लिए धरने प्रदर्शन कहि जिले में अलग अलग तरह से कर रहे है, तथा भोपाल में भी प्रदर्शिन किया लेकिन मामा की सरकार के कानों में जु तक नही रेगी
जिसके खफा विद्यार्थियों ने बड़वानी में सद्बुद्धि के लिए हवन यज्ञ किया,
बेरोजगारी विरोधी आंदोलन अभी समाप्त नही हुआ आने वाले दिनों में झोपड़ी झोपड़ी व गाव गांव जाकर बेरोजगार युवाओ को जगाने का कार्य करेंगे व सभी जिलों में बेरोजगार युवा पंचायते करके सरकार को मांग पत्र तथा भर्ती आयोग का ड्राप्ट देँगे ताकि आने वाली भर्तियां किसी नेता व सरकार की मोहताज न रहे व समय सीमा में पूरी भर्ती प्रकिया हो सके,
आंदोलन कर रहे बेरोजगार युवाओं की मांग है कि
1:एमपी टीईटी परीक्षा की जांच की जाए
2:-पोलिस कांस्टेबल परीक्षा की जांच की जाए
3:-संविदा वर्ग दो में सीटो के वृद्धि की जाए
4:-पिछले 20 सालों 1.70लाख बेगलाग पदो को रिलीज किया जाए
5:-घोटाले बाजो को कड़ी से कड़ी सजा दी जाये
6:-सभी विभागों में रिक्त पड़े पदों में तुरंत भर्तियां निकाली जाए। वही सुमेर सिंह बड़ोले ने बताया कि सरकारें धरना प्रदर्शन से डरती है इसलिए वह अनुमति नही देती व बदले की भावनाएं रखती है भोपाल में आयोजन नही करने दिया व इंदौर सहित अन्य जिलों में भी धारा 144 लगा दी गयी है,यह कही न कही घाटाले बाजो को बचाने व लोकतंत्र की हत्या करने जैसा है,अगर सरकार इतनी ही पाक साफ है तो जांच करने से क्यों डरती है,यह सब कही न कही सरकार की नाकामी साफ झलकती है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here