कुकुरमुत्ते की तरह फैल रहे है फर्जी सप्लायर

5101

@वॉइस ऑफ झाबुआ

जिले में चाहे प्रषासनिक तंत्र हो, या फिर हो नेता नगरी सब के सब सप्लायरों से मिल झाबुआ जैसे आदिवासी बाहुल्य जिले को लुटना चाहते है कोई यहां जिले के विकास की ओर नही सोच रहा है। तभी तो यहां 10 की चीज 100 में और 100 की 1000 में सप्लाय की जा रही है पर उसे रोकने वाला कोई नही है। कार्रवाई होती भी है वो भी ओपचारिक और उन पर जो छोटे तबके के कर्मचारी होते है।
जिले में नेता नगरी के आर्षिवाद से कुकुर्रमुत्ते की तरह सप्लायर पैदा होते जा रहे हैं जिनकी न कोई दुकान है और न कोई जगह सिर्फ फर्जी पते पर सामग्री सप्लाय कर रहे है जहां जाने पर न कोई दुकान होती है और न ही सामग्री ऐसे में इन्ही कुकुर्रमुत्ते की तरह फेल रहे सप्लायरों की वजह से ही भ्रष्टाचार फैलता जा रहा है। कोई टीवी फर्नीचर सप्लाय कर रहा है तो कोई मोबाईल खेल खिलौने, टेबल कुर्सी, व बर्तन भटटे, वहीं कुछ तो बाल्टी फिनाईल, कप्युटर टेबल, इन्वेटर, सीसीटीवी केमरे भी सप्लाय करने में पीछे नही हट रहे हैं कलेक्टर महोदय से अनुरोध है कि ऐसे सप्लायरों को चिन्हीत करें ताकि भ्रष्टाचार को बढावा नही मिल पाए। ये इस लिए होता है कि इनका कोई ठिया पाया नही होता है बस एक फर्जी पता होता है जो कभी मिल ही नही पाता है। ऐसे में इस फर्जी सप्लायारों के खिलाफ कानुनी कार्रवाई करते हुए मामला दर्ज किया जाना चाहिए। ताकि शासन की योजनाओं का लाभ सही ढंग से हितग्राहियों को मिल सके। वरना आया खिलौने वाला खेल खिलौने लेकर आया रे… आपको तो पता ही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here