चापलूसों के बोल… अपने तो भय्या की जीत तय है, भाजपा में टिकिट के लिए भारी घमासान, कांग्रेस को नही मिल रहे दावेदार

1645

पेटलावद

नगरपंचायत चुनाव का बिगुल बज चुका है कल से नामांकन भरने का दौर शुरु होने वाला है कुल 15 वार्डो के लिए दोनों पार्टी से दावेदार सक्रिय हो चुके खसकर भाजपा में टिकिट के लिए घमासान मचा रहा है हर नेता पार्षद बनना चाह रहा है उम्मीद से ज्यादा दावेदारी भाजपा से नेता लोग कर रहे है वही कांग्रेस को पेटलावद नगरपंचायत चुनाव के लिए वार्डो में प्रत्याशी नही मिल रहे है इतनी बुरी दुर्दशा कांग्रेस की यह हो गई है ऐसे में यहां कांग्रेस दूर दूर तक टक्कर दे सके ऐसा नज़र नही आता ।

चा के बोल

वह नेताओ के चमचे आजकल सोशल मीडिया पर जमकर भिनभीना रहे है सब इतने भावुक है कि बोल रहे है अपने तो भय्य्या की जीत तय है और अग्रिम बधाई दे रहे है… खेर यह चुनाव है यहां सब जायज है बात तो तब बनेगी जब पार्टी टिकिट देगी और चुनाव जीतकर आएंगे…

विकास छोड़ हिंदुत्व रहेगा चुनावी मुद्दा

पेटलावद नगर हमेशा भाजपा का गढ़ रहा है यहां संघ और हिन्दू संगठन काफी मजबूत है यहां धर्म ध्वज लेकर चलने वाले युवा काफी सक्रिय है और लगातार हर वर्ष धार्मिक सामाजिक कार्यक्रमो का दौर इस नगर मर जारी रहता है इस लिए इसे धर्म नगरी भी कहा जाता है इस नगर की सामूहिक एकता अपने आप मे एक मिसाल गए… ओर लगातार इस नगर की जनता भाजपा के पक्ष में वोट करती आई है… जबकि कांग्रेस यहां पर शून्य पर है कारण यह है कि कांग्रेस यहां कोई मजबूत नेता नही उभार पाई न जनता के बीच जाकर उनके काम कर पाई जिस कारण कांग्रेस यहाँ शून्य है… अभी इतना ही…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here