ये विमल सेठ की दुकान है… साहब यहाँ से खरीदारी करने पर केश लिया जाता है लेकिन बिल नही दिया जाता।

3704

निलेश डावर/अमर ठाकुर

मामला बोरी थाना क्षेत्र का है, दरअसल बोरी में सरिए खरीदने के लिए बलेड़ी, थापली के लोग आए थे, खरीदने के बाद दुकानदार से ग्राहकों ने बिल मांग लिया दुकानदार हक्का बक्का हो गया और बिल देंने से इंकार कर दिया, कहने लगा हमारे पास बिल बुक नही रहती है, वहां मौजूद ग्राहकों ने कारण पूछा तो जवाब दिया तुम कलेक्टर को भी बुला लो हम नही देते, वहाँ पर जयस के कार्यकर्ता छगनसिंह मंडलोई ने आवाज उठाते हुए समझाने के उद्देश्य से कहा अभी हमारे क्षेत्र में रेलवे, पुलिया निर्माण जैसे कार्य चल रहे है, मान लीजिए वहां किसी तरह की चोरियां हो जाती हो, ऐसे में कभी हमारे लोगों के ऊपर सरिए चोरी का आरोप लगाया जाए तो हम कैसे सिद्ध करेंगे..?? किसी भी वस्तु को खरीदें तो बिल मांगना ग्राहक का हक है हर भारतीय किसी न किसी माध्यम से सरकार को टैक्स दे रहा है लेकिन कुछ लोग इस तरह से सरकार को चुना लगा रहे है, इसलिए सभी जागरूक बने अपनी आवाज स्वयं उठाएं, देश आगे बढ़ेगा। जयस कार्यकर्ता छगनसिंह मंडलोई ने मौके पर ही उपस्थित होकर प्रशासनिक अमले को शिकायत की मामला बढ़ते देख मोके पर नायब तहसीलदार आमने अमले के साथ पहुँचे, दुकानदार विमल सेठ अपनी दुकान छोड़कर भाग गया, बुलाने पर वापस आया, उसके बाद उसे हिदायत दी गई, आगे इस तरह से बिल देने से मना किया तो कार्यवाही की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here