अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने 5 घंटे तक किया प्रदर्शन

247

 

भारतीय विद्यार्थी परिषद अलीराजपुर द्वारा जिले के समस्त छात्रावासो में अव्यवस्था को लेकर प्रदर्शन कर सहायक आयुक्त जानकी यादव को ज्ञापन सौंपा। जिसमे अभाविप के प्रांत सह मंत्री विनय चौहान ने बताया कि विगत दिनों में कन्या शिक्षा परिसर जोबट की छात्राए स्कूल समय में स्वयं एसडीएम कार्यालय में पहुँचना और एकलव्य उमराली के विद्यार्थी भी वैसे ही अपने व्यय पर कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर शिकायत करना और कल ही बोरी के समीप स्थित ग्राम सेमल खेड़ी में कस्तूरबा गांधी बालिका छात्रावास की कुछ छात्राएं फूड प्वाइजनिंग का शिकार हुई बावजूद प्रशासन का मौन रहना कही ना कही अधीक्षकों की मनमानी हो सकता है , भ्रष्टाचार, व छात्रों के अधिकारो का हनन हो रहा है ओर एक ओर देखा जाए प्रशासन बढ़ावा देने का काम कर रहा है और अभी तक उन दोषी अधीक्षकों पर प्रशासन की कोई कार्यवाही नहीं होना भ्रष्टाचार को बढ़ावा देना है प्रशासन का रवैया विद्यार्थियों के प्रति संवेदनशील नहीं है। ठीक उसी प्रकार से समस्या को लेकर आए उत्कृष्ट बालक छात्रावास के विद्यार्थियों ने बताया कि छात्रावास में अनियमितताओं का अंबार लगा है।
छात्रावास कक्ष में कहीं पंखे नहीं है,तो कहीं पंखे बंद पड़े हैं।
छात्रावास में भोजन समय पर नहीं मिलता ना मेनू के अनुसार मिलता है ।
शिकायत करने पर छात्रावास में विद्यार्थियों को अधीक्षक द्वारा डराया धमकाया जाता है।
छात्रावास में विद्यार्थी को स्पोर्ट्स किट उपलब्ध कराई जाती है, वह भी अभी तक नहीं दी गई है।
छात्रावास में विद्यार्थियों को पोस्ट मैट्रिक की छात्रवृत्ति मिलती है वह भी कई सालों से नहीं मिल पा रही हैं।
छात्रावास में विद्यार्थी को बेड नहीं मिल रहा है, दो विद्यार्थी एक बेड पर सोने पर मजबूर है,और ओढ़ने बिछाने का कोई व्यवस्था नहीं और कई सालों से बिस्तर चेंज नहीं हुए अधिकतर विद्यार्थी घर परिवार से अपने उपयोग में आने वाले बिस्टरो को लेकर आए हुए है ।छात्रावास में बिजली के बोर्ड सही नहीं जगह-जगह पर वायर कटे हुए उसमे छात्रों को पूरी तरह से करंट लगने की संभावना है। हमे कुछ होता है तो क्या प्रशासन इसकी जिम्मेदारी लेगा ,अधिकतर शौचालय बंद पड़े हुए हैं कहीं सारे दरवाजे टूटे हुए जिसमें विद्यार्थियों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। नगर मंत्री केतन चौधरी ने बताया की जिन छात्रावासों में अधीक्षक 3 साल से पदस्थ है उनको तुरंत उनकी मूल संस्था में व अन्य छात्रावास में भेजा जाना चाहिए और विद्यार्थियों के स्वास्थ्य को देखते हुए छात्रावासों में सप्ताहिक उपचार के लिए डॉक्टरों की टीम भेजनी चाहिए।
जिला संयोजक निलेश सस्तिया ने बताया कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद आपसे यह मांग करती है कि एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय उमराली के प्राचार्य व अधीक्षक को तुरंत निलंबित करते हुए उन पर विभागीय जांच बैठानी चाहिए व दोषी पाए जाने पर पुलिस कार्यवाही की जानी चाहिए। इसी प्रकार उत्कृष्ट एवं सामान्य बालक छात्रावास के अधीक्षक पर भी जांच दल बिठाकर उस पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई होना चाहिए। कार्रवाई नहीं होने पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जिले भर में आंदोलन करेगी जिसकी पूरी जिम्मेदारी प्रशासन की रहेगी । छात्र प्रदर्शन में मदन डावर, जेल सिंह मावी, सुरपाल चोंगगढ़, रमेश अवासिया,सुजल सेन, भावेश बृजवासी सहित आदि कार्यकर्ता एवं छात्रावास के विद्यार्थी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here