जिला कलेक्टर महोदय एक नजर अवैध संचालित हॉस्पिटल और अवेध बंगाली डॉक्टरों के क्लिनिको पर भी ? क्या इन अवेध बंगालि डॉक्टरों के आलीशान हॉस्पिटल और क्लिनिको तहसीलदार कार्यवाही करेगे?

695

 

रिपोर्टर /दिलीपसिंह भूरिया

जिले में कई वर्षो से अवेध हॉस्पिटल और अवेध क्लिनिक फर्जी बंगाली डॉक्टर का अलीराजपुर जिले के गली मोहल्लों और फलियों फलियों चल रहे अवेध रूप से संचालित हो रहे इन हॉस्पिटल को इतनी मात्रा में कोन दवाई उपलब्ध करवाता है ।जिले में कोई तो है जो वर्ष भर इन अवेध बंगालियों को लाखो रुपयों की बिना किसी डिग्री और योग्यता के आधार पर अतनी मात्र में हर माह दवाईयो का सप्लाय किया जाना एक बड़े रैकेट की ओर इशारा कर रहा है ।जिला मुख्यचिकित्सा अधिकारियों का गांधारी की तरह आखों पर पट्टी बांधकर ऐसे बंगाली डाक्टरों की अवेध हॉस्पिटल और अवेध क्लिनिक को अपने कार्यक्षेत्र में केसे संचालित करवा रहे है ।सूत्रों से ज्ञात हुवा है की जिले में सभी बंगालियों डॉक्टरों की संख्या हजारों की तादात में जिनको दवाई एक योजनाबद्ध तरीके से घर बैठे पहुचाई जा रही है ।जिसके लिए बकायदा एजेंट इनके अवेध क्लिनिक और अवेध हॉस्पिटल पर जाकर चोरी छिपे ऑडर लेकर आते है और जिले में अन्य मेडिकल स्टोर के ऑडर के बहाने इनकी भी दवाइया घर बैठे पहुंचाई जाती है ।जिले में इस अवेध स्वास्थ्य सुविधाओ के बदले क्षेत्र के सभी प्रकार के नेताओ और अधिकारी और जनप्रतिनिधियो को मोटी रेवड़ियां दी जाती है ।जिससे कोई मामला या इनकी खबर या शिकायत होने पर स्वास्थ्य विभाग के अनुसार किसी छोटे मोटे बंगाली डॉक्टर के ऊपर पंचनामा बनाकर उसकी दवाई जप्त कर उसकी दुकान सील कर दी जाती है रिपोर्ट भी दर्ज होती है और फिर जमानत और फिर से वही दुकानें और अवेध क्लिनिक संचालित होते हैं।क्या जिले के प्रशासन की नजर नहीं जाती या जानबूझ कर इस और ध्यान नहीं दिया जाता इन बंगालियों डॉक्टर के क्लिनिक और हॉस्पिटल पर जो बिना डिग्री के अमानक रूप से मानव शरीर में दवाई डाल रहे है और मानव शरीर और मानव समाज को धीरे धीरे खत्म करने का मार्ग तैयार कर रहे है।वही पूर्व में रहे तहसीलदार ने अवेध रूप से कार्य करने वाले बंगाली डाक्टर पर कार्यवाही की थी परंतु जब से नवीन जिला कलेक्टर आए है ।तब से अब तक अवेध बंगाली पर कार्यवाही नही हुई और नाही इन्होंने इनकी तरफ झांक कर देखा?इसका क्या मतलब हे ये जानने के लिए वॉइस ऑफ झाबुआ के अगले अंक में पढ़े……

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here