साहब मेहरबान तो गोविन्द बना पहलवान

907

 

@Voice ऑफ झाबुआ     @Voice ऑफ झाबुआ

कल्याणपुरा

शासन ने गांव-गांव स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ पहुंचने के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की स्थापना कराई है। लेकिन इन स्वास्थ्य केंद्रों की माली हालत ही कमजोर है। बडे कस्बों में अस्पताल तो खोल दिए गए हैं मामला सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र कल्याणपुरा मै झकनावद से अटैच कर्मचारी गोविंद पर सीएचएमओ साहब मेहरबान इतने है की गोविंद बना पहलवान सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र कल्याणपुरा मै अटैक ड्रेसर की इतनी दादागिरी है की वो अपनी मर्जी से ड्यूटी पर आता है और अपनी मर्जी से चला जाता है उसे कोई भी रोकने टोकने वाला नही अगर किसी ने उसे कुछ बोल दिया तो दादागिरी से बोलता है मै साहब के यहा पंखे ऐसी और लाईट सुधारने का काम कराने जाता हु मेरा कोई कुछ नी बिगाड़ सकता है मैरी मर्जी आए तो मैं सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र मै ड्यूटी पर आऊ या नही आऊ मुझे कोई बोलने वाला नही है अगर किसी ने बोला तो उसकी शिकायत साहब से कर दुगा इतनी दादा गिरी चल रहीं है की सामुदायिक स्वास्थ केंद्र मै इमरजेंसी मै मरहम पट्टी करने वाला कोई नही क्युकी गोविंद शाम होते ही अपने घर निकल जाया है ऐसे मै मरीजों को प्राइवेट क्लीनिक मै जाना पड़ता है ।अब देखना है अटैच कर्मचारी गोविंद पर क्या करवाई होती है या साहब की मेहरबानी से गोविंद बना रहेगा पहलवान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here