वाह रे सरपंच साहब… आप तो बड़े देशभक्त निकले

1498

झाबुआ

गजब की सरपंच गिरी है महोदय ‘ पदभार मिल गया शपथ हो गई
लेकिन कम से कम महापुरुषों का आदर सम्मान तो कर लिया होता ‘ बात कर रहे हैं …!
ग्राम रूपगढ़ के वर्तमान सरपंच ‘ और तमाम उपस्थित रहे अधिकारि ओर सदस्यगण की ‘ ..
जिन्होंने महात्मा गांधी की तस्वीर को खिड़की पर टांग कर माल्यार्पण किया ‘ क्या महात्मा गांधी की तस्वीर रखने के लिए एक कुर्सी नहीं मिली थी ‘ और तो और सरपंच ‘ सचिव और अन्य सदस्यों को कुर्सी पर बिठाया और तस्वीर उनके पीछे रखी गई ‘ तस्वीर तो हमेशा सामने रखी जाती है पीछे नहीं ‘ …
महात्मा गांधी जी तो आज के सरपंच अगर समझ लेते इतना अपमान नहीं होता ‘
एक राष्ट्रपुरुष ‘ महात्मा गांधी का अपमान किया है ‘ महात्मा गांधी जी को देश में राष्ट्रपुरुष ‘ राष्ट्रपिता का दर्जा दिया गया क्योंकि जिन्होंने अंग्रेजों से लड़ने के लिए कई आंदोलन किए कई प्रयास किए ‘ और भारत देश को आजादी दिलाने के लिए अंत तक लड़ाई लड़ी ‘ और सरपंच की बात करे तो यह कांग्रेस समर्थित है ‘ महात्मा गांधी जी ने कांग्रेस के लिए काम किया था ‘ देश के लिए काम किया था ‘ लेकिन कांग्रेस के वर्तमान सरपंच ‘ पंच ‘ बने वीर क्रांतिकारियों का अपमान करते हैं ‘ जो इन्होंने राष्ट्रपुरुष महात्मा गांधी जी का घोर अपमान किया है ‘….!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here