आम बजट निराशाजनक पूंजी पतियों को फायदा महंगाई पर अंकुश नहीं गरीबों को राहत नही: कांग्रेस

2063

झाबुआ

हाल ही में केंद्र की मोदी सरकार द्वारा पेश किए गए देश के आम बजट 2022-23 को कांग्रेस पार्टी ने दिशाहीन निराशाजनक पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाते हुए गरीब विरोधी करार दिया है
जिला कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल मेहता व संभागीय काग्रेस प्रवक्ता साबिर फिटवेल ने केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए आम बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि देश के आम बजट में देश के किसानों एवं बेरोजगार नौजवानों को छला गया है आम बजट में बड़े-बड़े उद्योगपतियों पूंजी पतियों को पूर्व की भांति इस वर्ष भी मोदी सरकार ने देश के आम बजट मैं लगभग 6.0 लाख छोटे उद्योग बंद हो गए 84% प्रतिशत लोगों की आमदनी कम हो गई प्रति व्यक्ति आय भी कम होने के साथ 4.6 करोड़ लोगों को गरीबी रेखा के नीचे धकेल दिया गया कुल मिलाकर यह पूंजीवादी बजट साबित हो चुका है किसानों मजदूरों युवाओं महिलाओं और व्यापारियों सबके साथ इस आम बजट में विश्वासघात किया गया है
कांग्रेस नेताओं ने कहा की 8 साल से सिर्फ यही उम्मीद थी कि इस बार बजट अच्छा होगा पेट्रोल डीजल सब्जी तेल दाल आटा खाद्य सामग्री सस्ती होगी इसके विपरीत इलेक्ट्रॉनिक मशीनरी चमड़ा चारजर जैसी वस्तु सस्ती करी जिससे गरीबों का कोई लेना देना नहीं इस बजट में युवाओं को रोजगार के लिए कुछ भी प्रावधान नहीं किया गया और ना ही कर्ज के बोझ से दबे हुए देश के किसानों को राहत देने के लिए कोई विशेष प्रावधान किया गया हैकेंद्र सरकार का पूरा बजट उद्योग पतियों को ध्यान में रखकर बड़े बड़े पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए बनाया गया है जो पूरी तरह से निराशाजनक दिशाहीन एवं भ्रामक है केवल आंकड़ों के मकड़जाल में देश की जनता को फसा कर गुमराह किया जा रहा है आने वाले समय में मोदी सरकार के इस बजट से देश में बेरोजगारी एवं महंगाई विकराल रूप धारण करेंगी और आम आदमी की मुसीबतें बढ़ने के साथ महंगाई चरम सीमा तक पहुंच जाएगी कांग्रेसी नेताओं ने इस आम बजट को देश की जनता के साथ छलावा बताया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here