साहब…!प्रदीप सेठ बोलता है की चांदी लेने रात को अकेली आना…।और रात को 9 बजे बाद फोन लगाना…!

4500

 

 

झाबुआ एक आदिवासी बाहुल्य जिला है यहां भोलेभाले आदिवासियों को आसानी से लुट लिया जाता है। ऐसा ही एक मामला रामा तहसील में रहने वाले रामचंद्र पिता खुना भूरिया का सामने आया। जो षिकायतों पर षिकायतें कर रहा है मगर उसकी सुनने वाला कोई नही है आज एक बार फिर रामचंद्र झाबुआ पहुंचा और कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक के नाम ज्ञापन सौंप बताया कि सावली ज्वेलर्स प्रदीप कुमार के यहां वर्ष 2017 में 6 किलो चांदी एवं प्रथक से 8 चांदी की चुडियां 85 हजार रूपये में गिरवी रखी थी। उक्त रकम में चांदी का कडा और एक सांकली आधा किलो,एक झेला आधा किलो और इसी रकम में मेरी बडी पुत्री सारंगी मोहनिया की रकम आधा किलो पायजेप, 8 चुडियां है और मेरी छोटी पुत्री सरजु की आधा किलो की साकली,आधा किलो झेले,आधा किलो के पायजेप और कंदोरा है।आदि रकम गिरवी रख मेरे द्वारा खेती के कार्य हेतु 85 हजार रूपये की राशि उधार ली गई थी।उक्त रकम को संपूर्ण रूपया प्रदीप सेठ को लौटाने के लिए में कई बार उनके पास गया किन्तु जब भी मैं जाता हुं तब कुछ न कुछ बहाना कर कल आना,परसो आना कह कर टाल देता था और एक दिन अचानक कहने लगा तुम्हारे जेवरात मुझे मिल नही रहे है और उसकी इंट्री मेरे द्वारा रजिस्टर में नही की जाती।और मेरी उक्त जेवरात लेने के लिए मेरी बडी बेटी को विपक्षी मेरी पुत्री सारंगी को कहता है कि तुम तुम्हारे माता पिता को यहां लेकर मत आया करों तुम सिर्फ अकेली आया करों और मुझे रात में फोन किया करों। जब उक्त रकम (गहने ) मेरे द्वारा गिरवी रखी गयी थी तब मैं , मेरी पत्नि और बडी पुत्री सारंगी थे और उक्त रकम को छुडवाने भी हम तीन ही विपक्षी की दुकान पर गए थे। इस संबंध में मेरे द्वारा कई बार शिकायत की जा चुकी है मगर आज दिनांक तक कोई कार्रवाई नही की गई।अतः महोदय से निवेदन है कि विपक्षी से हमें 6 किलो चांदी एवं 8 चुडी चांदी की प्रथक से दिलवाये जोने की कृपा करें। साथ ही विपक्षी पर धोखाधडी एवं मेरी पुत्री सारंगी के साथ गलत नियत से बातचीत करने व अकेले में फोन करने व मिलने की बात को लेकर मामला दर्ज करने की कृपा करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here