दुल्हन की तरह सज रही, धार्मिक नगरी पेटलावद, कुलदेवी आईमाता मंदिर का सपना अब होगा साकार

60

सुरेश मूलेवा पेटलावद

वह कहते हैं ना बंद आंखों से देखे गए सपने कभी सच नहीं होते लेकिन जो सपने खुली आंखों से देखे जाते हैं वह देर से ही सही लेकिन सच हो ही जाते हैं।
जी हां हम बात कर रहे हैं पेटलावद के सिर्वी समाज की कुलदेवी आई माताजी के नवनिर्मित मंदिर की। वर्षों से एक भव्य मंदिर का सपना संजोए बैठे सीरवी समाजजनों ने आखिरकार पेटलावद में आई माताजी का एक भव्य मंदिर का निर्माण पूर्ण कर दिया है। आने वाली 12 मई से लेकर 16 मई तक नवनिर्मित मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा पूजा पाठ का कार्यक्रम आयोजित होने वाला है। इस भव्य और ऐतिहासिक कार्यक्रम को लेकर क्षत्रिय सिर्वी समाज सकल पंच के पदाधिकारियों द्वारा तैयारियां जोरों शोरों से की जा रही है।
मंदिर के बाहर यज्ञशाला का निर्माण किया गया है, जहां हवन पूजन यज्ञ आयोजित होंगे। इसके साथ ही मंदिर से मंदिर को जोड़ने वाली हर गली को दुल्हन की तरह सजाया जा रहा है। इस धार्मिक आयोजन की सबसे बड़ी बात यह है कि आयोजन में मध्य प्रदेश ही नहीं बल्कि राजस्थान, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात और उत्तर प्रदेश जैसे कई राज्यों से हजारों की संख्या में सिर्वी समाजजन यहां पहुंचने वाले हैं। इस पूरे आयोजन को लेकर सिर्वी समाज सकल पंच, युवा मंडल, महिला मंडल सहित समाज के अन्य संगठन के पदाधिकारी निस्वार्थ भाव से बीते 6 महीनों से तैयारियों में लगे हुए है।
आयोजन में पधारेंगे धर्मगुरु और कई बड़े संत-महात्मा
आई माताजी के मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में आई पंथ धर्मगुरु परम पूज्य दिवान श्री गोपाल जी परमार बिठोड़ा (पिरान) भी आ रहे है। उनके साथ अंबिका आश्रम, बालीपुर धाम से संत श्री 1008 श्री योगेश जी महाराज, श्रृंगेश्वर धाम झकनावाड़ा के महंत श्री 1008 रामेश्वरगिरी जी महाराज, आईपंथ परम पूज्य सतगुरु भंवर महाराज जी और दुल्लाखेड़ी धाम, पेटलावद के महंत त्यागी बाबा फलाहारी श्री देवदास जी महाराज विशेष रूप से मौजूद रहेंगे।

ऐसे आयोजित होगा 5 दिवसीय ऐतिहासिक कार्यक्रम
कुलदेवी आईमाताजी के 5 दिवसीय प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव के मांगलिक कार्यक्रमों की शुरुआत 12 मई गुरुवार से होगी। – 12 मई को पहले दिन श्री गणेश पूजन होगा, जिसमें हेमाद्री स्नान, पंचाग कर्म, प्रायश्चित कर्म, मंडप प्रवेश, पाठ-जप, जलाभिषेक आदि मांगलिक कार्यक्रम मंदिर प्रांगण में होंगे। इसके बाद सुबह 8 बजे मंदिर प्रांगण से एक भव्य कलश यात्रा निकाली जाएगी, जो नगर के प्रमुख मार्गो से होकर गुजरेगी।
इसके बाद शाम को राजस्थान के प्रतापगढ़ की टीम द्वारा यहां पहुंचकर भव्य सुंदरकांड का पाठ किया जाएगा। यह आयोजन उदय मैरिज गार्डन में आयोजित होगा।
– 13 मई को देव पूजन, अग्नि स्थापन हवन, अन्नाधिवास, पाठ-जप आई कार्यक्रम होंगे। इसके बाद रात को 8 बजे से गुजरात की प्रसिद्ध आर्केस्टा द्वारा गरबा-डांडिया रास का आयोजन उदय मैरिज गार्डन में होगा।
– 14 मई को देव पूजन, देवार्चन, हवन, पुष्पाधिवास, फलाधिवास, घृताधिवास, पाठ-जप आई कार्यक्रम होंगे। इसके बाद उदय मैरिज गार्डन में ही विशाल भजन संध्या का आयोजन होगा। जिसमें महेंद्रसिंह राठौड़, सोनू जी सिसोदिया अपने सुमधुर भजनों की प्रस्तुति देंगे।
– 15 मई को देव पूजन, हवन, शय्याधिवास, पाठ-जप आई कार्यक्रम होंगे। सुबह 10 बजे मंदिर प्रांगण से एक भव्य शोभायात्रा निकाली जाएगी। इस शोभायात्रा में राजस्थान के पाली जिले के अटबड़ा के सिर्वी नवयुवक मंडल द्वारा गैर, राजस्थान के ही बिलाड़ा की श्री आईजी गैर विशेष आकर्षण का केंद्र रहेगी। इसके बाद शाम 4 बजे उदय मैरिज गार्डन में सम्मान समारोह आयोजित होगा और रात 8 बजे श्री सत्यवीर तेजाजी महाराज के नाटक का मंचन होगा। जिसमें कोणदा निमाड़ से बाबा रामदेव भजन मंडल आयेंगे।
– 16 मई को अभिजित मुहूर्त में पूर्णाहुति एवम् महाआरती का आयोजन होगा। इसके बाद 11 बजे से उसी गार्डन में महाप्रसादी और भंडारे का आयोजन भी होगा।

यह रहेंगे मुख्य अतिथि
इस महोत्सव में अभा सिर्वी महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पाली लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री पीपी चौधरी, वरिष्ठ समाजसेवी उज्जैन ट्रस्ट के अध्यक्ष रामलाल सेंचा, युवा संगठन राष्ट्रीय अध्यक्ष सुरेश चौधरी, झाबुआ-रतलाम सांसद जीएस डामोर, विधायक वालसिंह मेड़ा, पूर्व विधायक सुश्री निर्मला भूरिया, अभा सिर्वी महासभा प्रदेश अध्यक्ष भगवान लछेटा, अभा सिर्वी महासभा महिला प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष अनिताबेन चोयल, अभा सिर्वी महासभा किसान केसरी महासचिव भंवर चौधरी, अभा सिर्वी महासभा पूर्व प्रदेश अध्यक्ष मनोहरलाल मुकाती, कैलाश मुकाती, अभा सिर्वी महासभा प्रदेश महासचिव डॉक्टर जया मुकाती, महेश्वर ट्रस्ट अध्यक्ष लक्ष्मण काग, राष्ट्रीय कवि इंदौर के मुकेश मोलवा, अभा सिर्वी महासभा प्रदेश महासचिव कांतिलाल गेहलोत और ओंकारेश्वर ट्रस्ट अध्यक्ष केसरसिंह हामड मौजूद रहेंगे।

महोत्सव की तैयारियां अंतिम दौर में
क्षत्रिय सिर्वी समाज सकल पंच के पदाधिकारियों ने बताया कुलदेवी आई माताजी के नवनिर्मित मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव की तैयारियां अंतिम दौर में चल रही है। हमारी सभी धर्मो के प्रमुखों से अपील है कि यह पूरे पेटलावद का आयोजन है, इसमें आप भी शामिल होकर धर्मलाभ कमाएं। हमनें नगर सहित जगह-जगह पर बैनर-पोस्टर के माध्यम से प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। इसके साथ ही सोशल नेटवर्किंग साइट्स फेसबुक, ट्विटर, वाट्सएप आदि पर भी प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। इस महोत्सव को लेकर सभी प्रकार की बोलियां लग चुकी है, जिन-जिन समाजजनों ने इसमें हिस्सा लिया है, हम उनका दिल से आभार व्यक्त करते है। साथ ही सभी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को बधाई देते है कि उनकी मेहनत अब रंग लाने वाली है। माता आई जी आप सभी के जीवन में अपार खुशियां लेकर आए और आपका कल्याण हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here