जिस गांव को प्रभात झा ने लिया था गोद अब वही गांव तरस रहा विकाश के लिए

1766

राकेश प्रजापत

थांदला जनपद के अंतर्गत आने वाले ग्राम हरीनगर को प्रभात झा ने गोद लिया था और ग्राम को आदर्श ग्राम पंचायत बनाने का बीड़ा उठाया था। लेकिन अब वही आदर्श ग्राम पंचायत के ग्रामीणों को रोड व पानी की समस्या झेलना पड़ रही है । प्रशासन की तरफ से अब तक ग्रामीणों की समस्या पर कोई ध्यान नहीं दिया गया है । जिससे ग्रामीणों में प्रशासन के खिलाफ काफी ज्यादा नाराजगी नजर आती है । बुधवार को हरीनगर से कलेक्टर सोमेश मिश्रा का काफिला गुजर रहा था उसी दौरान ग्रामीणों ने कलेक्टर सोमेश मिश्रा के काफ़िले को रोककर उन्हें अपनी गांव की समस्याओं को बताया तथा आवेदन भी दिया। ग्रामीणों द्वारा कहा गया आवेदन में कहा गया है कि आदर्श ग्राम पंचायत हरीनगर में हरीनगर से लेकर छापरी तक रोड का निर्माण किया गया था लेकिन हरीनगर चौराहे से लेकर सोसायटी तक सड़क का निर्माण कार्य नही किया गया । जिसके कारण ग्रामवासी परेशान हो रहे हैं। हरीनगर से गुजरने वाला मुख्य मार्ग भी मोंटफोर्ट स्कूल से लेकर हाईस्कूल तक जर्जर हो चुका है दिन भर चलने वाले वाहनों से उड़ने वाले धूल मिट्टी से ग्रामवासी परेशान हो रहे हैं। धूल से सड़क किनारे रह रहे ग्रामीणों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ रहा है । हरीनगर पंचायत में पीएचई विभाग द्वारा नल से जल योजना में खाली पाइप बिछा रखी है। यह योजना लगभग 75 लाख की थी। जिसमें ग्राम बालवासा से बेराज से पानी सप्लाई होना है अनास नदी डेम तक पर पर्याप्त पानी है पर विद्युत समय सप्लाई न होने में पानी नही मिल रहा है । ग्रामीणों का यह भी कहना है कि 1 फरवरी को उन्होंने झाबुआ कलेक्टर कार्यालय जाकर आवेदन दिया था। जिसके बाद अब तक कोई भी कार्यवाही नहीं हुई है। लेकिन बुधवार को कलेक्टर सोमेश मिश्रा का काफिला ग्रामीणों ने रोक कर अपनी समस्या से एक बार फिर कलेक्टर सोमेश मिश्रा को अवगत कराया कलेक्टर सोमेश मिश्रा ने ग्राम वासियों की समस्या को समझते हुए उन्हें आश्वासन दिया है कि 1 महीने में उनकी समस्या का निराकरण कर दिया जाएगा । अब देखना है कि कलेक्टर सोमेश मिश्रा के आश्वासन के बाद ग्राम में जल समस्या व रोड की समस्या को किस प्रकार से प्रशासन सुधार करता है। कलेक्टर सोमेश मिश्रा ने 1 महीने का आश्वासन तो दिया है लेकिन ग्रामीणों का कहना है कि 1 फरवरी को जब उन्होंने आवेदन दिया था तब भी कलेक्टर साहब द्वारा हमें 1 महीने का आश्वासन दिया गया था तब भी कोई हल नहीं निकला तो अब 1 महीने में कैसे समस्या हल होती है यह देखते हैं । कलेक्टर सोमेश मिश्रा को ग्रामीणों ने आवेदन दिया इस दौरान मनोहर भटेवरा, राजेंद्र परमार, कमलेश डामोर, लाला कलाल, बादर भटेवरा, मलसिंह मईडा, पारसिंह निनामा,हकीम बोहरा, अरविंद मकवाना, कैलाश,अनिल, खोजेम बोहरा गोलू पंचाल निलेश पंचाल आदि मौजूद रहे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here