10 दिनों से पानी की किल्लत झेल रहे ग्रामीणों का टूटा सब्र का बांध

1119

 

सुरेश मुलेवा

पेटलावद। मंगलवार सुबह होते ही पेटलावद के ग्राम बावड़ी में ग्रामीणों ने पंचायत पर एल ताला जड दिया। यहां के ग्रामीण बीते 10 दिनों से पानी की समस्या से दो चार हो रहे थे। पंचायत ग्रामीणों की सुनवाई नहीं कर रही थी, ऐसे में ग्रामीणों का सब्र का बांध मंगलवार को सुबह टूट गया और पंचायत पर ताला जड़कर पंचायत के बाहर हंगामा खड़ा कर दिया।
ग्रामीणों हरजी मेड़ा, कालुसिंह, बद्री, निर्मल, अमरतलाल, जितेंद्र पाटीदार आदि का आरोप है कि पंचायत सचिव और पूरी पंचायत की मनमानी के चलते गांव में लोगों को बहुत सी समस्या का सामना करना पड रहा है। गाँव में पंचायत तो समय पर खुल जाती है लेकिन पंचायत में चोकीदार को छोड़कर कोई नहीं दिखता है। ग्रामीणों ने बताया गाँव में नल आये और 10 दिन हो गये जबकि भरपूर पानी होने के बावजूद गांववालो को समय पर पानी नहीं मिल पा रहा। अब गांव वाले करे तो क्या करे। जब कोई सुनने वाला ही नहीं है तो हमने पंचायत पर ताला लगा दिया। गाँव में न तो गटर है गंदे पानी के लिए और न ही गाँव में लाईट की व्यवस्था है, गाँव में विधायक निधि से दो टेकंर थे जो कि दोनों गायब है। लोगों का कहना है पंचायत कि मिली भगत से दोनों टेकंर बेच दिये हैचार दिन पहले भी एक ग्रामीण ने पंचायत पर ताला लगा दिया था सचिव ने दो दिन का आश्वासन दिया था कि वह व्यवस्था में सुधार करेंगे, लेकिन अभी तक कोई व्यवस्था ठीक नहीं हुई।
टैंकर की समस्या पिछले एक साल से दूर नहीं हो रही। ग्रामीणों ने बताया तत्कालीन कलेक्टर रोहित सिह के समय भी ग्रामीणों ने सडक जाम करके समस्या सुनाई थी लेकिन समस्या सिर्फ फोटो और कागजो तक ही पूरी होती है, धरातल पर यथावत रहती है। वही पंचायत सचिव का कहना है पानी की कमी है इसलिए पानी नहीं मिल रहा है और टेकंर का उनकी जानकारी में नहीं है।ग्रामीणों ने सहायक सचिव पर भी आरोप लगाया और बताया कि जब गाँव वालो ने उन्हें फोन लगाया और कहा कि पंचायत पर ताला लगा दिया तो उनका कहना था लगा दो पहले भी क्या बिगाड़ लिया। अब गाँव वाले सचिव के बयान से नाराज है उनका कहना है पानी भरपूर है, लेकिन कोई सुनने को तैयार नहीं है। आखिर 2 घंटे बाद पंचायत इंस्पेक्टर ज्ञानसिंह चौहान आए और ग्रामीणों की समस्या सुन चोरी हुए टैंकर का पंचनामा बनाया और पानी की समस्या जल्द से जल्द हल करने के लिए संबंधित अधिकारियों से बात की तब जाकर कहीं मामला शांत हुआ। इसके बाद जनपद पंचायत सीईओ अमित व्यास ने मामले में सक्रियता दिखाते हुए तत्काल गांव में नलों में पानी सप्लाई शुरू कराई और ग्रामीणों की पानी की समस्या का निराकरण हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here