नरक पालिका तो नगर बेचने में लगी है….! एसपी साहब आप ही यातायात अवरूद्ध करने वाले दादा पहलवानों पर लगाम कसीये…! आये दिन इन अतिक्रमण कारियों से यातायात होता है अवरूद्ध

1490

नरक पालिका तो नगर बेचने में लगी है….!

एसपी साहब आप ही यातायात अवरूद्ध करने वाले दादा पहलवानों पर लगाम कसीये…!

आये दिन इन अतिक्रमण कारियों से यातायात होता है अवरूद्ध
जिला प्रषासन भी दे ध्यान….
झाबुआ। स्थानीय बस स्टेंड से नगर पालिका की ओर जाने वाले रास्ते पर दादा पहलवान फल विक्रेताओं द्वारा अपनी दुकानों से बाहर फुटपाथ के आगे फलों से भरे केरेट रख देते है… उसके बाद यहां रोड पर ही वाहनों का जमावाडा लग जाता है… ये सब सुबह 7 बजे से 10 बजे तक चलता है वहीं दिन में भी यहां पीकअप जैसे वाहन खडे कर दिये जाते है… सुबह के समय यहां स्कूल जाने वाले बच्चों और उनके पालकों को वाहन निकालने में काफी परेषानी होती है… यहां सुबह जाम सा लग जाता है… अगर कोई इनसे कुछ कहता भी है तो ये दादा पहलवान दादागिरी करने लग जाते है… और बच्चों के माता पिता से अभद्रता करते नजर आते है… आये दिन इनकी यही हरकत होती है… इनकी दुकानों के बाद भी काफी जगह रहती है उसके बाद फुटपाथ आती है… फिर भी ये सडकों को अपने बाप दादा की बपौती समझते है… पुलिस अधीक्षक आषुतोष गुप्ता से निवेदन है कि इस ओर ध्यान देते हुए जो हर रोज इन दादा पहलवान फल विक्रेताओं की वजह से जो यातायात अवरूद्ध होता है उससे निजात दिलवाये… क्योकि नरक पालिका तो इन पर मेहरबान है… उन्हे तो नगर की जमीनें और धरोहरे बेचने से ही फुर्सत नही मिलती है… और अगर इनका अतिक्रमण का डंडा चलता भी है…तो सिर्फ गरीब और मजलुमों पर…! जिला प्रषासन भी इन अतिक्रमण कारियों पर अपना डंडा चलाये ताकि आम नागरिकों को किसी भी प्रकार की परेषानी न हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here