नलजल योजना अब नल में जल नही योजना में तब्दील होती नजर आ रही है कहीं जल नहीं तो कहीं जल के लिए नल नहीं कही पानी की मोटर तो लगा दी पर लाइट नही है काली, सफ़ेद पानी की टंकी के साथ योजना मे भी काला सफ़ेद हुआ है लगता है ?

693

नलजल योजना अब नल में जल नही योजना में तब्दील होती नजर आ रही है

कहीं जल नहीं तो कहीं जल के लिए नल नहीं

 

शाहिद जैनब

थांदला – नल जल योजना गर्मी शुरू होते ही कई जगह दम तोड़ती हुई नजर आ रही है । हम बात कर रहे हैं प्राथमिक स्कूल माध्यमिक स्कूल में लगी नल जल योजना के अंतर्गत पेयजल की व्यवस्था की । गर्मी शुरू हो गई है पारा 40 से 45 के डिग्री के बीच में नजर आ रहा है। भरी गर्मी में बच्चे पानी के लिए तरस रहे हैं । कहीं जगह स्कूल की स्थिति ऐसी है कि बच्चों के पानी की व्यवस्था ही नहीं है । तो कहीं स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे अपने घर से पानी की बोतलें लेकर आते हैं। पानी की बोतल में रखा पानी कुछ देर में गर्म हो जाता है । अब भरी गर्मी में दोपहर के वक्त बच्चे बोतलों में भरा पीने पर मजबूर हैं । क्योंकि उनके यहां नल जल योजना के लिए तो सरकार ने रुपए खर्च कर दिया है लेकिन जो पैसा खर्च किया है उसका सही लाभ बच्चों को नहीं मिल पा रहा है । 90 हजार से 1 लाख के बीच में हर प्राथमिक स्कूल व माध्यमिक स्कूल में पानी के लिए समरसेबल मोटर व पानी की टंकी, नल, वॉश बेसिन आदि लगाए गए । लेकिन यह टंकियां पानी की सिर्फ दिखाने के लिए ही नजर आ रही है कहीं पर टंकी में पानी नहीं है क्योंकि जलस्तर नीचे चला गया है । कहीं तो अब तक पानी के लिए लगाई गई टंकी का सप्लाई शुरू नहीं हो पाया है कहीं पानी की मोटर लगी है तो वहां पर लाइट की व्यवस्था नहीं है सिर्फ मोटर टंकी व नल लगा कर के काम अधूरा ही छोड़ दिया है । लापरवाही की हद है इस कदर पार होती भी नजर आ रही है कि कहीं जगह जल के लिए नल ही नहीं लगे हैं।

ऐसी योजना का क्या लाभ जिस योजना का उद्देश्य पूरा ही ना हो सके सिर्फ दिखावे के लिए स्कूलों पर पानी की टंकी या कहीं काली तो कहीं सफेद नजर आ रही है। नल जल योजना का उद्देश्य हमें स्कूलों में पूरा होता हुआ नजर नहीं आ रहा है पानी की टंकी काली सफेद नहीं बल्कि इस योजना में ही काला सफेद होता हुआ दिखाई दे रहा है।

देखिए पूरा वीडियो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here