आरोग्य झाबुआ एक अभिनव पहल, सावधानी ईलाज से बेहतर है – कलेक्टर

26

 

Voice  ऑफ  झाबुआ

कलेक्टर सोमेश मिश्रा आज प्रातः संजीवनी हेल्थ कैम्प ग्राम पंचायत तलावली में पहुंचे यहां पर बडी संख्या में ग्रामीणों, बच्चों में अपने स्वास्थ्य जांच करवाने के लिए भारी उत्साह दिखाई दिया। वहां पर जो टेन्ट की व्यवस्था की गई थी। वह कम पड गई। हेल्थ कैम्प में जहां ग्रामीणों एवं बच्चों ने अपना स्वास्थ्य का परीक्षण करवाया वहीं पर ग्राम पंचायत सरपंच के द्वारा भी अपना स्वास्थ्य परीक्षण करवाया एवं कलेक्टर मिश्रा ने भी अपना बीपी चेक करवाया। यहां पर स्वास्थ्य विभाग का अमला एवं आयुष विभाग का अमला संयुक्त रूप से कैम्प में अपनी सेवा दे रहे थे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जे.पी.एस. ठाकुर एवं जिला आयुष अधिकारी श्रीमती प्रमीला चौहान उपस्थित थे। मिश्रा ने हेल्थ कैम्प में ग्रामीणों से रूबरू चर्चा की एवं निर्देश दिए की सभी ग्रामीणों के आयुष्मान कार्ड बनाए जाए एवं इसके अतिरिक्त इनके परिवार के सदस्यों के आयुष्मान कार्ड बनाया जाए। जिससे शासन की योजना के अनुसार यदि कोई बीमार होता है तो उसे 5 लाख रूपए दवाई आदि के लिए दिए जा सके। मिश्रा ने कहा कि सभी ग्रामीणों के संजीवनी कार्ड अनिवार्य रूप से बनाए जाए। जिससे उनके स्वास्थ्य की समस्त जानकारी इस कार्ड में रहे। इस संजीवनी कैम्प में टीकाकरण से यदि कोई रह गया हो तो अपना टीकाकरण करवा लेवे। मिश्रा ने बच्चों से स्वास्थ्य के संबंध में चर्चा की एवं स्वास्थ्य के संबंध में क्या-क्या सावधानियां रखी जाए उसे बताया गया। सावधानी ईलाज से बेहतर है। इस कैम्प में अपना चेकअप अनिवार्य रूप से करवाए जिससे यदि कोई बीमारी हो तो उसका पता अभी लग जाए एवं उसका ईलाज किया जा सके।
आदिवासी बाहुल्य जिला जहां 90 प्रतिशत आदिवासी जनसंख्या निवास करती है। जिले में स्वास्थ्य सूचकांको की स्थिति अत्यंत चिंताजनक है। इसे सुधार हेतु ‘‘संजीवनी हेल्थ कैम्प‘‘ कलेक्टर सोमेश मिश्रा के द्वारा एक अभिनव पहल प्रारंभ की है जिसके तहत हितग्राहियों की समस्याओं को दूर करते हुए प्रत्येक गांव में शिविर का आयोजन किया जागकर अन्य सहायक सेवाओं का भी समेकित संजीवनी हेल्थ कैंप में किया जाएगा। शासन की महत्वपूर्ण योजना आयुष्मान निराम्य भारत को हितग्राही का चिन्हांकन इस कैम्प की विशेषता रहेगी। वैक्सीनेशन तथा आयुष शिविर की उपलब्धता रहेगी। इस कैम्प में संजीवनी कार्ड का वितरण होगा। जिले में प्रत्येक बुधवार एवं शनिवार को आयोजित किए जाएगे। जिसमें एम.बी.बी.एस. तथा सी.एच. आफिसर उपस्थित रहेंगे। प्रत्येक विकास खंड में एक दिवस में 4 कैम्प कुल 24 कैम्प आयोजित होगें। प्रत्येक सप्ताह में कुल 48 ग्राम पंचायतों में कैम्प का आयोजन किया जाएगा। कैम्प अंतर्गत 0-6 वर्ष के बच्चे एवं उनकी माताओं, गर्भवती माताओं तथा किशोर बालक, बालिकाओं का स्वास्थ्य परिक्षण किया जाएगा।
इस कैम्प में स्वास्थ्य परिक्षण अंतर्गत एच.बी. की जांच, हेपेटाईटीस-बी, आयरन की कमी, शुगर, सिकलसेल एनीमिया, ब्लड प्रेसर आदि की जांच की जाएगी। ग्राम पंचायत स्तर पर संजीवनी रजिस्टर का संधारण होगा। इसके अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, पंचायत विभाग, आदिवासी विकास विभाग, राजस्व विभाग को दायित्व सौपा गया है। कलेक्टर स्वयं संजीवनी कैम्प की सतत मानिटरिंग एवं व्यवस्था का जायजा लेगें। विभागों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों का स्वास्थ्य परीक्षण के लिए भी यह कैम्प आयोजित होगा।
संजीवनी कैम्प तलावली में आज मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जे.पी.एस.ठाकुर, जिला आयुष अधिकारी श्रीमती प्रमीला चौहान, डॉक्टर्स, डिप्टी कलेक्टर श्री तरूण जैन, तहसीलदार आशिष राठौर एवं बडी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here