शिक्षक पात्रता परीक्षा वर्ग-3 का पेपर लीक,पेपर रद्द करने की मांग,दिया ज्ञापन

229

 

 

रितुराज

मध्य प्रदेश प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड एक बार फिर विवादों के घेरे में हैं। दरअसल पिछले दिनों मध्य प्रदेश कॉन्स्टेबल पात्रता परीक्षा 2020 आयोजित की गई थी,जिसका परीक्षा परिणाम दिनांक 24 मार्च2022 को घोषित किया गया। जिसको लेकर कई अभ्यर्थियों ने सवाल खड़े किए हैं। अभ्यर्थियों का कहना है कि पीईबी द्वारा उनका रिजल्ट दो बार घोषित किया गया। जिसमें उन्हें पहले क्वालीफाई बताया गया और कुछ ही समय बाद उन्हें उनको नॉट क्वालीफाई करार दिया गया। साथ ही हाल ही के दिनों में मध्य प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा वर्ग-3 आयोजित की गई थी,जिसमें दिनांक 27 मार्च के पेपर का स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था,जिसको लेकर भी अभ्यर्थियों ने कहा कि पेपर लीक होना हम युवाओं के साथ खिलवाड़ हैं। और इस प्रकार के खिलवाड़ को हम सहन नहीं करेंगे। ध्यान रहें 2020 में कृषि विस्तारक अधिकारी की परीक्षा परिणाम में भी त्रुटियां सामने आई थी।

बेरोजगार युवाओं द्वारा ज्ञापन में यह रखी मांग

मध्य प्रदेश में बेरोजगारी की स्थिति बहुत ही भयानक हैं। पिछले 4 से 5 वर्षो में मध्यप्रदेश में कोई भी भर्ती नहीं निकाली गई है। ऐसी स्थिति में जब युवा ओवर ऐज हो रहे हैं,हताशा निराशा के शिकार हैं। इसलिए सरकार को तुरंत भर्ती कर युवाओं को रोजगार देना चाहिए परंतु बड़ी दुख की बात यह है कि जैसे-जैसे शिक्षक पात्रता परीक्षा वर्ग-3 का पेपर लीक हुआ हैं, उसमें पीईबी की बड़ी लापरवाही के कारण हुआ है। जिससे लाखों अभ्यार्थी पेपर में सम्मिलित हुए थे। ऐसे ही त्रुटि पुलिस भर्ती परीक्षा में भी लगातार सामने आ रही हैं,जिसका उदाहरण कृषि विभाग की भर्ती को हम ले सकते हैं। मध्य प्रदेश कॉस्टेबल भी भर्ती में पहले विद्यार्थियों को को क्वालीफाई बताया गया और बाद में उन्हें नॉट क्वालीफाई बताया गया। इतना सब कुछ होने के बावजूद भी पीईबी द्वारा कोई ठोस कारण अभी तक नहीं दिया गया है। यह युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ है। अतः महोदय से निवेदन है कि इस पूरे मामले पर उच्च स्तरीय जांच कमेटी बनाकर जांच की जाए और दोषियों के विरुद्ध तुरंत ठोस कार्रवाई करें।

यह रहे मौजूद
रितुराज लोहार ,संदीप वास्कले, पिंटू चौहान,भरत चौहान, शैलेंद्र मसानिया, संजय भूरिया, जीत बामनिया, विक्रम बामनिया नानला,वलसिंग वास्कले,एवं सैकड़ो बेरोजगार युवा सामील हुए ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here