न्यायोचित मांगो का निराकरण नहीं होने से अधिकारी,कर्मचारी आक्रोशित

1329

 

@वॉइस ऑफ झाबुआ

प्रदेश के अधिकारियों, कर्मचारियों, स्थायी कर्मी, संविदा कर्मी की न्यायोचित मांगो के संबंध में म.प्र.शासन प्रशासन को ज्ञापन/पत्र के माध्यम से मांगो की पूर्ति हेतु ध्यानाकर्षण करवाया जाने के उपरांत भी मांगो के निराकरण एवं आदेश नहीं किये जाने, कर्मचारी संगठनों से संवाद नहीं किये जाने फलस्वरुप प्रदेश के अधिकारियो/कर्मचारियों में निराशा एवं आक्रोश व्याप्त है। मध्यप्रदेश के अधिकारियों, कर्मचारियों की न्यायोचित मांगो के निराकरण हेतु दिनांक 04.03.2022 को प्रदेश के सभी जिला मुख्यालय पर मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपा गया। इसी कड़ी में जिला मुख्यालय झाबुआ पर भी दिनांक 4 मार्च 2022 को दोपहर 1.00 बजे अपर कलेक्टर जे.एस. बघेल को ज्ञापन सौपा गया।
मांग निम्नानुसार है
1- राजस्थान, झारखण्ड, छत्तीसगढ राज्य के समान मध्यप्रदेश के समस्त विभागो में कर्मचारियों को लागू नवीन अंशदायी पेंशन योजना समाप्त कर पुरानी पेंशन योजना लागू किया जावें।
2- प्रदेश के अधिकारी,कर्मचारी,स्थाई कर्मी, पेंशनरो को केन्द्रीय कर्मचारियों के समान केन्द्रीय तिथि से 11 प्रतिशत महगांई भत्ता दिया जावें।
3- अधिकारियों/कर्मचारियों को मा.उच्च न्यायालय के निर्णय की प्रत्याशा में सशर्त पदोन्नति अतिशीघ्र प्रारंभ की जावें।
4- गृह भाड़ा भत्ता अन्य भत्ते सातवे वेतनमान अनुसार केन्द्रीय कर्मचारियों के समान दिए जावें।
5- स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ मंत्री परिषद के आदेश दिनांक 04.01.2020 के संदर्भ में दिया जावें।
6- अध्यापक संवर्ग को नये शिक्षा संवर्ग में नियुक्ति के स्थान पर संविलियन के आदेश जारी कर क्रमोन्नति का लाभ प्रथम नियुक्ति दिनांक से दिया जावें एवं सहायक शिक्षक/उ.श्रेणी शिक्षक का पदनाम वेतनमान अनुसार दिया जावें।
7- लिपिक संवर्ग, नर्स, पटवारी, सहित प्रदेश के विभिन्न संवर्गो की वेतन विंसगति का निराकरण किया जावें।
8- दैनिक वेतन भोगी, संविदा कर्मचारी, स्थायी कर्मी, आउटसोर्स कर्मचारियों को नियमितिकरण किया जाकर, अनुकंपा नियुक्ति के आदेश का सरलीकरण किया जावें।
इस अवसर पर अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के जिलाध्यक्ष गजराज दातला, तेजनारायण द्विवेदी, प्रकाश पालीवाल, कमलेश जैन, शशिकांत शर्मा, राजेंद्र अमलियार, ए.पी. त्रिपाठी, राजेश भावसार, संजय सिकरवार, अशोक चौहान, कालुसिंह सोलंकी, नवीन पाठक, अनिल कोठारी, प्रतापसिंह सोलंकी, गजेंद्रसिंह चंद्रावत, लीला त्रिवेदी, संध्या कुलकर्णी, अनिता बघेल, सुभद्रा श्रीवास, अनिता बघेल, अन्नु भाबोर, दीपिका सिंगाड़िया, सारिका चौहान, सुनीता चौहान, कृष्णा सोनी, भरत व्यास, हर्ष चौहान, प्रमोद वैरागी, राजेंद्र राणावत, गिरधारीलाल धानक, महेंद्र कछावा, रामेश्वर राजोरिया, शोभाराम रावत, जयकरण बघेल, बी.के. सिकरवार, प्रदीप रामावत, लोकेंद्र सोलंकी, मुकेश राठौर सहित बड़ी संख्या में जिला के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here