विशाल कलश यात्रा के साथ शुरू हुई नों दिवसीय देवी भागवत कथा,कथावाचक पुराण मनीषी आचार्य कौशिक महाराज का हुआ भव्य स्वागत

47

धर्म नगरी थांदला का पुण्य प्रताप है कि हिंदुत्व की अलख जगाने व इस पावन भूमि का स्पर्श करने अनेक संत महात्मा यहाँ आते रहे है। इसी तारतम्य में गुप्त नवरात्रि के परम पावन दिनों में सकल विश्व कल्याण की सद्भावना के साथ श्री विश्व जागरण मानव सेवा संघ चैरिटिबलेट ट्रस्ट व गौतीर्थ तुलसी तपोवन गौशाला, वृन्दावन द्वारा श्री कामधेनु कैंसर हॉस्पीटल के सहायतार्थ डूंगर मालवा में पहली बार श्रीमद्देवी भागवत कथा ज्ञान गंगा का आज शुभारम्भ हुआ। इस अवसर पर वृंदावन से पधारें प्रसिद्ध कथावाचक परम पूज्य पुराण मनीषी आचार्य कौशिक जी महाराज के प्रथम नगर आगमन व श्रीमद्देवी भागवत कथा के शुभारम्भ अवसर पर विशाल कलश यात्रा का आयोजन हुआ। यात्रा में चुनड़ी पहने महिलाओं ने सिर पर श्रृंगरित कलश रख कर जय मातादी को जयकारें लगाते हुए भागवतजी व कौशिकजी महाराज की भव्य अगवानी की। जानकारी देते हुए मीडिया प्रभारी पवन नाहर ने बताया कि थांदला नगर में यह पहला अवसर है जब मातादी की गुप्त नवरात्रि के आराधना मय पावन दिनों में भागवत कथा के रूप में देवी की महिमा सुनाई जाएगी। वृन्दावन से पधारें रामदेव शास्त्री ने बताया कि स्थानीय हिन्दू संगठन के सहयोग से नगर में मानव सेवा सहायतार्थ कौशिक जी महाराज द्वारा स्थानीय दशहरा मैदान पर आज दोपहर 12 से 4 नित्य कथा वाचन होगा जिसकी पूर्णाहुति आगामी 31 जनवरी 2023 को होगी। आयोजकों ने धर्म प्रेमी जनता से भागवत कथा में शामिल होकर धर्म लाभ लेने की अपील की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here