रेत माफिया अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे किसी भी प्रशासनिक अधिकारी का इनमें खौफ नहीं

477

 

थांदला नगर में रेत माफियाओं का कहर दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है कोई प्रशासनिक अधिकारी भी ध्यान देने वाला नहीं दिखाई दे रहा रेत माफियाओं के द्वारा गुजरात से अवैध रूप से रेत लाकर थांदला नगर में जगह-जगह रेत के ठीए बना दिए गए हैं सुबह से शाम तक थांदला के रोड पर रेत के ओवरलोड डंपर दौड़ते हुए नजर आ जाएंगै परंतु प्रशासनिक अधिकारी इस ओर ध्यान ही नहीं दे पा रहे हैं इसकी वजह क्या हो सकती है क्या प्रशासनिक अधिकारियों की रेत माफियाओं से लेन देन के चलते रेत माफियाओं पर कार्रवाई नहीं हो पा रही है या प्रशासनिक अधिकारी अपने काम को लेकर सजग नहीं है आज सुबह 3 डंपर लाखीया पेट्रोल पंप के पास देखे गए जिनकी सूचना एसडीएम आरटीओ विभाग अधिकारी को भी दी गई परंतु उनके दो से ढाई घंटे तक इंतजार करने के बाद भी कोई भी प्रशासनिक अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा देखते-देखते सभी गाड़ियां वहां से धीरे-धीरे कर कर निकलती गई साथ ही आपको यह भी बता दें कि किसी भी डंपर पर पीछे साइड नंबर प्लेट ही नही दिखाई दी इनकी पासिंग 26 टन से 28 टन के बीच रहती है परंतु इन डंपरो में 50 से 55 टन माल भर अवैध कारोबार किया जा रहा है नाही आरटीओ साहब ध्यान दे रहे हैं नाही खनिज विभाग नाही एसडीएम साहब क्या पता इनसे इन अधिकारियों को हफ्ता पहुंचता है ? जिस कारण इन पर कार्रवाई नहीं हो पाती है साथ ही रंभापुर का 1 डॉक्टर जो की थांदला में अपना क्लीनिक संचालित कर रहा है वह भी अपने डंपर ओ से थांदला में रेत का अवैध कारोबार धड़ल्ले से करता दिखाई दे रहा है जोकि थांदला नगर में अपना अवैध क्लीनिक संचालित कर एलोपैथिक ग्रामीणों का इलाज भी कर रहे हैं वही मौके पर विधायक प्रतिनिधि मसूल भूरिया भी पहुंचे और उन्होंने बताया कि इन रेत माफियाओं द्वारा आम जनता को लूटा जा रहा है और अवैध रूप से लाई हुई रेत डंपरो में ओवरलोड भरी रहती है और यह प्रशासनिक अधिकारी किसी भी प्रकार का इस ओर ध्यान नहीं देते हैं साथ ही जयस संगठन के पदाधिकारी बालवेंद्र सिंह वसुनिया भी यहां पर पहुंचे और और इन अवैध रेत माफियाओं पर बरसे उनका कहना था कि यदि यह प्रशासनिक अधिकारी इन रेत माफिया ऊपर कार्रवाई नहीं करते हैं तो जय संगठन इसका विरोध करेगा और धरना प्रदर्शन कर प्रशासनिक अधिकारियों की लापरवाही बताएगा कई प्रकार के थांदला नगर में अवैध कारोबार चल रहे हैं परंतु कोई भी प्रशासनिक अधिकारी इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है l अगले अंक में पढ़िए थांदला में कौन-कौन रेत माफिया अपना कारोबार बे धड़क कर रहा है नाम सहित अगली खबर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here