खबर लगने के बाद मौके पर पहुंचे अधिकारी

1024

 

घटिया निर्माण को लेकर लगी पूर्व में खबर

@वॉइस   ऑफ   झाबुआ

 

केंद्र सरकार की महत्वपूर्ण जल जीवन मिशन योजना के अंतर्गत बनने वाली टंकी का निर्माण ढाई करोड़ की लागत से हो रहा है परंतु शुरुवाती दौर से ही टंकी के निर्माण के चलते ठेकेदार द्वारा घटिया निर्माण कराया जा रहा है,जिससे ग्रामीणों और जनप्रतिनिधि में काफी आक्रोश देखा जा रहा है।

 

खबर लगने के बाद मौके पर पहुंचे अधिकारी

ढाई करोड़ की लागत से बनने वाली टंकी का निर्माण घटिया स्तर से हो रहा है जिसको लेकर पूर्व में भी ग्रामीणों द्वारा भाजपा पदाधिकारी और अधिकारियों को सूचना दे दी गई थी परंतु टंकी निर्माण में काम सही रूप से नही हो पा रहा है जिसका खामियाजा भविष्य में ग्रामीणों को जल नही मिलने के रूप में भुगतना पढ़ेगा,वही ढाई करोड़ से बनने वाली टंकी के घटिया निर्माण को लेकर ग्राम के उपसरपंच राजू डांगी द्वारा पोस्ट डाली गई थी,वही सुबह फिर ठेकेदार द्वारा मिट्टी मिली हुई रेत और जमी हुई सीमेंट से टंकी का निर्माण किया जा रहा था जिसकी सूचना ग्रामीणों द्वारा ग्राम के उपसरपंच को दी गई वही मौके पर पहुंचकर उपसरपंच द्वारा तत्काल ही वस्तु स्थिति को देखते हुए जिला अधिकारी जितेंद्र मावी को सूचना देते हुए निरीक्षण करने का बोला था,वही दिन में मौके पर विभागीय अधिकारी द्वारा निरीक्षण के दौरान कोई भी कमी पेशी नही दिखी,मतलब साफ है की अधिकारी और ठेकेदार की जुगलबंदी के चलते ढाई करोड़ से बनने वाली टंकी का बंटाधार होना निश्चित ही तय है।

 

कंपनी का कर्मचारी बोला के मावी सर ना बोल देंगे तो बदल दूंगा सीमेंट

घटिया निर्माण के चलते उपसरपंच राजू डांगी द्वारा मिट्टी मिली रेत और जमी सीमेंट से ढाई करोड़ की लागत से बनने वाली टंकी का निर्माण किया जा रहा जिसको लेकर जिला अधिकारी को सूचना दी थी परंतु कंपनी के कर्मचारी के द्वारा उपसरपंच राजू डांगी को फोन लगाकर ये बोल दिया की सीमेंट तो अच्छी हे और मावी सर ना बोल देंगे तो में बदल दूंगा मतलब साफ है की टंकी निर्माण में हल्का काम होने के पीछे अधिकारी का ही हाथ है,वही पूर्व में भी भामल के एक व्यक्ति द्वारा उपसरपंच राजू डांगी को फोन पर धमकाते हुए कहा की काम जो चल रहा हे वो चलने दो अगर नही चलने देना हे तो में पंचायत की खबर लगवा दूंगा की बात कही,वही घटिया निर्माण को लेकर ग्राम के उपसरपंच द्वारा जिला अधिकारी को सूचना दी गई वही कंपनी के कर्मचारी ने उपसरपंच राजू डांगी को फोन लगाते हुए कह दिया कि मावी सर बोल देंगे तो सीमेंट बदल लूंगा मतलब कुल मिलाकर ये बात साबित हो गई के टंकी का निर्माण जिला अधिकारी मावी के इशारों पर ठेकेदार द्वारा किया जा रहा है,ज्ञात हो की पूर्व में जिला अधिकारी जितेंद्र मावी के कार्यकाल में 50लाख की लागत से बनने वाली ढोलखरा से खवासा योजना का पानी आज तक नही मिल पाया है,वही इसी बात से अनुमान लगाया जा सकता है की ढाई करोड़ से बनने वाली टंकी कब तक चलेगी और इसका लाभ ग्रामीण को मिलेगा या नहीं….ये तो समय बताएगा…परंतु एक बात तो तय हे की बिना अधिकारी के ठेकेदार कोई काम नही कर रहा है….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here