शासकीय उचित मूल्य की दुकानों में वितरण किए जा रहे हैं प्लास्टिक के चावल

2002

विजय कनेश

सोंडवा तहसील के ग्राम बड़ी वनखड की शासकीय उचित मूल्य की दुकान में प्लास्टिक के बने हुए हुए चावल वितरित किए जा रहे हैं। यह मामला तब सामने आया जब वॉइस ऑफ झाबुआ समाचार की टीम स्कूलों के निरीक्षण के लिए वनखड के प्राथमिक विद्यालय पटेल फलिया पहुंची । जब स्कूल के बच्चो से स्कूल में दिए जाने वाले भोजन की गुणवत्ता के बारे पूछा गया। तब खाना बनाने वाली बाई ने बताया की हम तो अच्छे से बना कर खिला रहे हैं। लेकिन सरकार ही प्लास्टिक के चावल वितरित करे तो कोन बोलेगा ।जब चावल चावल दिखाने के लिए कहा तो उन्होंने चावल के कट्टे से छाट कर बताए।यह बहुत ही बड़ा विषय है कि सरकार सस्ता राशन देने का
डिडो रा पिट कर प्लास्टिक के चावल गरीबों को वितरण कर रही है।

इस संबंध में नायब तहसीलदार संतोष रतनावत से बात की तो उन्होंने जांच कर कारवाई करने की बात कही।

खाद्य आपूर्ति अधिकारी राम आवासीया जब शासकीय उचित मूल्य की दुकान पर पहुंचे और ग्रामीण ने दुकान में रखे चावल के कट्टे में से प्लास्टिक के चावल निकाल कर बताए। उन्होंने बताया कि वास्तव मैं चावल में मिलावटी हुई है। जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

इस संबंध में जिला कलेक्टर महोदय से बात करना चाहि पर उन्होंने फोन अटेंड नहीं किया।

अलीराजपुर विधानसभा के विधायक मुकेश पटेल से इस मामले पर बात की तो उन्होंने बताया कि यह मामला गंभीर है। जिला कलेक्टर से इस बात को अवगत करा कर जांच कराई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here