ठेकेदार और जनप्रतिनिधि की लापरवाही ग्रामीणों को जल से वंचित रखेगी

764
रेत में मिट्टी की मिलावट
रेत में मिली हुई मिट्टी

 

@वॉइस   ऑफ   झाबुआ

 

केंद्र की महत्वपूर्ण योजना जल जीवन मिशन के अंतर्गत मध्य प्रदेश के कई ग्रामीण क्षेत्रों में लाखो की लागत से टंकी का निर्माण किया जा रहा हे ताकि प्रधानमंत्री की महत्वपूर्ण योजना जल जीवन मिशन से रहवासी को जल मिल सके परंतु लाखो की लागत से बनने वाली टंकी निर्माण में अधिकारी,ठेकेदार और जनप्रतिनिधि के स्वार्थ के कारण केंद्र की योजना से मिलने वाले से लाभ ग्रामीण को वंचित रहना पड़ सकता हे।

ठेकेदार और जनप्रतिनिधि की लापरवाही ग्रामीणों को जल से वंचित रखेगी

झाबुआ जिले के तहसील थांदला के अंतर्गत आने वाली ग्राम भामल में जल जीवन मिशन योजना से टंकी बन रही है जिसकी लागत ढाई करोड़ हे,जब से टंकी का निर्माण हुआ हे तभी से ठेकेदार और अधिकारी वर्ग सुर्खियों में रहने लगा है,टंकी निर्माण के चलते ठेकेदार ने शुरू से ही घटिया निर्माण,बार बार सीमेंट बदलने और सही तरीके से कार्य नही करते हुए,तरी नही करने और बिना मानक के ही टंकी का निर्माण किया जा रहा हे,वही उक्त टंकी निर्माण में कई बार बार कंपनी के कर्मचारी को फोन लगाया परंतु फोन नही उठाते हुए सीधे तोर से टंकी को भ्रष्ट की आग में झोंकने का काम कर रहा है।

ढाई करोड़ की योजना को पलीता लगाने से बाज नही आ रहे अधिकारी और जनप्रतिनिधि

केंद्र की जल जीवन मिशन योजना से बनने वाली टंकी का निर्माण ढाई करोड़ की लागत से हो रहा है,परंतु स्थान निरीक्षण के लिए आज तक जिला अधिकारी जितेंद्र मावी नही पहुंचे,वही कई बार जिला अधिकारी जितेंद्र मावी को फोन लगाने पर आज वहा हु कल वहा हु कहकर समस्या को टालने की कोशिश करने पर तुले है,वही टंकी निर्माण के उद्घाटन पर अजजा मोर्चे के प्रदेश कलसिंह भाभर,जनपद अध्यक्ष पोनी डामर,जनपद उपाध्यक्ष माया देवी चौधरी,मंडल अध्यक्ष तोलसिंह गणावा और जिला पंचायत सदस्य रेखा निनामा की उपस्थित में हुआ था परंतु किसी ने भी आज तक ढाई करोड़ की लागत से बनने वाली टंकी का निरीक्षण आज तक नही किया ये समझ से परे है,अधिकारी और जनप्रतिनिधि की उदासीनता के चलते ही ठेकेदार के होशले बुलंद होने के चलते ही टंकी का निर्माण भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ाने पर तुला हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here