राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने निकाला पथ संचलन,जगह-जगह हुआ स्वागत।कदम से मिले कदम, अनुशासन से निकला पथ संचलन

336

अक्षय चौहान खवासा

खवासा:- राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने 15 जनवरी रविवार को मकर संक्रांति के पर्व पर खवासा नगर में भव्य पथ संचलन निकाला गया। संचलन के पहले देशभक्ति,राष्ट्र प्रेम से परिपूर्ण बौद्धिक हुआ जिसमे मुख्य अतिथि जिला सह कार्यवाह कैलाश मालीवाड ने संबोधित करते हुए कहा ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ विश्व का सबसे बड़ा संगठन है,राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की स्थापना 1925 में डॉ केशव बलीराम राव हेगडेवर जी द्वारा की गई थी आज संघ का 98 वर्ष चल रहा है सन 2025 में संघ का 100 वर्ष पूर्ण हो जाएंगे,सभी एकजुट होकर संघ के लिए कार्य करे। कैलाश कहार ने संबोधित करते हुए कहा की सभी स्वय सेवक ऐसा कार्य करे की जिससे संगठन को आपके ऊपर गर्व हो जो जिमेदारी संघ ने आपको दी ही उसे आप अच्छे से निभाए। प्रार्थना के पश्चात संचलन आरंभ हुआ। इस दौरान कन्या शाला स्कूल परिसर में 3 की कतार में ध्वनि यंत्र के साथ स्वयंसेवक खाकी सफेद शर्ट, काली टोपी, काले जूते,हाथो में दंड और काली बेल्ट वाली वेशभूषा में पंक्तिबद्ध होकर चल रहे थे। एक स्वयंसेवक संघ के केसरिया ध्वज को धारण किए चल रहा था संघ के बैंड की धुन पर सभी स्वयंसेवक ताल से ताल मिलाते हुए चल रहे थे।
छोटे छोटे बच्चे वे गांव की गलियों में कौम की पुकार पर-नौजवान बढ़े चलो के देश का सुधार हो नामक गीत गुनगुना कर लोगों को देश सेवा के लिए प्रेरित कर रहे थे जो कि नगर के मुख्य मार्ग बस स्टेंड, हनुमान मंदिर,जैन मंदिर, नीम चौक, राम मंदिर,पाटीदार मोहल्ला,गणेश मंदिर, हनुमान मंदिर,तलाई मोहल्ला, टोडा फलिया से होता हुआ। पुनः कन्या शाला परिसर में जा कर संचलन का समापन हुआ। पथ संचलन का जगह-जगह पुष्प वर्षा से स्वागत किया गया। संचलन के एक दो दिन पहले ही स्वयंसेवको द्वारा संचलन की पूर्ण तैयारियां की गई थी। पथ संचलन को लेकर खास उत्साह छोटे बच्चों में देखने को मिला। पथ संचलन की व्यवस्था को देखते हुए थाना प्रभारी कैलाश चौहान,चौकी प्रभारी नवलसिंह बघेल दल बल के साथ चल रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here