भील सेना संगठन ने प्रशासन ओर कलेक्टर को दी चेतावनी

306

 

 

दिलीपसिंह भूरिया

पिछले दिनो आम्बुआ मे पकडाये सरकारी अनाज के ट्रको के मामले मे मूख्य आरोपी नितेश अग्रवाल पर एफआईआर दर्ज कराने के लिए अब सामाजिक संगठन भी खुलकर सामने आ गया है। भील सेना संगठन के संस्थापक शंकर बामनिया ने जिले के कलेक्टर ओर प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा है के 24घंटो के अंदर गरीबो के हक के अनाज की कालाबाजारी करने वाले अनाज माफीया नितेश अग्रवाल के खिलाफ प्रशासन एफआईआर दर्ज करे नही तो भील सेना संगठन सभी आदिवासी समाज के सामाजिक संगठनो के साथ कलेक्टर कार्यालय का घेराव करेंगी क्योकि जो कार्यवाही प्रशासन ने की है वो कही ना कही शंका के घेरे मे है प्रशासन राजनीतिक दबाव मे कार्यवाही के नाम पर लिपा पोती कर मामले को भटकाने का काम कर रहा है । आखिर क्या कारण है की जिले मे इतना बडा अनाज की कालाबाजारी का मामला सामने आया ओर उसमे प्रशासन बडे अनाज माफीया को छोड़कर छोटे मोटे कर्मचारी ओर ट्रक मालिक पर एफआईआर दर्ज कर मामले को दबा रहा है जबकी नियम अनुसार कार्यवाही परिवहन ठेकेदार ओर इस वेयर हाऊस का जो संचालक है नितेश अग्रवाल उस पर होना थी लेकिन भाजपा के दबाव मे जिला प्रशासन कार्यवाही नही कर रहा है । अगर प्रशासन 24घटे मे परिवहन ठेकेदार ओर वेयर हाऊस के संचालक पर एफआईआर दर्ज नही करता है तो आने वाले समय मे बडे स्तर पर कलेक्टर का घेराव किया जाएगा उसकी समस्त जिम्मेदारी शासन प्रशासन की रहेगी ।

परिवहन ठेकेदार के द्वारा मीडीया को गलत बयान देने पर शंकर बामनिया ने बोला हमला

परिवहन ठेकेदार नितेश अग्रवाल ने मीडीया मे एक यूट्यूब चैनल पर अपने ऊपर लगे आरोपो को निराधार बताया था ओर कहा था की इस अनाज के परिवहन मे मेरा कोई लेना देना नही है उस पर भील सेना संगठन के संस्थापक शंकर बामनिया ने हमला बोलते हुए कहा के जब परिवहन का ठेका नितेश अग्रवाल का है वेयर हाऊस के संचालक नितेश अग्रवाल है तो फिर कैसे इस अनाज की कालाबाजारी मे शामिल नही हो सकता है अगर इस अनाज मामले मे कोई लेना देना नही है तो जो सुनील अग्रवाल है वो किसकी अनुमति से बेहडवा वेयर हाऊस ट्रको मे अनाज भरकर गूजरात के सूरत बेचने ले जा रहा था कोन है ये सुनील अग्रवाल नितेश का ही रिश्तेदार है इनके घर का सदस्य है फिर कैसे ये इसमे शामिल नही है । कही ना कही इस मामले को दबाने के लिए इस तरह का बयान नितेश अग्रवाल मीडीया को दे रहा है । जिसे प्रशासन को नजर अंदाज कर इस परिवहन ठेकेदार नितेश अग्रवाल को मूख्य आरोपी बनाना चाहिए।

आखिर कब चलेगा शिवराज का बूलडोजर

आलीराजपुर जिले मे पिछले दिनो बडे पैमाने पर अनाज की कालाबाजारी मामले मे पकडाये ट्रको के मूख्य आरोपीयो पर सीएम शिवराज का बुलडोजर कब चलेगा ये देखना होगा क्योकि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को मंच से कहते हूए हमने सूना है के मामा अभी फार्म मे है कालाबाजारी करने वाले को छोडूंगा नही जेल की सलाखो के पीछे डाल दूंगा लेकिन आदिवासी बाहुल्य जिले आलीराजपुर मे भाजपा के नेताओ के रिश्तेदार खुलेआम गरीबो के अनाज को दूसरे राज्य मे ले जाकर बेच रहे है जिसका उदाहरण सब के सामने है जिसमे भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष राकेश अग्रवाल का रिश्तेदार नितेश अग्रवाल जो परिवहन ठेकेदार है उसने अपने छोटे भाई सुनील अग्रवाल को साथ मे रखकर बेहडवा के सरकारी अनाज गोदाम से ट्रक को भरकर रात के अंधेरे मे गूजरात के सूरत भेज रहा था जिसे आलीराजपुर ओर आजाद नगर के तहसीलदार ने पकडा अब इस केस मे नितेश अग्रवाल पर भी एफआईआर होना थी लेकिन प्रशासन ने नही की मै सीएम शिवराज सिंह चौहान से पूछना चाहता हू के आपका बूलडोजर कब इन अनाज माफीयाओ पर चलेगा ।

सीएम के आलीराजपुर दौरे पर भील सेना संगठन करेगा पूरे मामले की शिकायत

भील सेना संगठन समस्त आदिवासी समाज के सामाजिक संगठनो के साथ मिलकर आने वाले दिनो मे सीएम के प्रस्तावित दोरे के दोरान इस जिले मे चल रहे अनाज की कालाबाजारी की पूरी शिकायत करेगा ओर प्रशासन के द्वारा जो कार्यवाही की गयी है उसके बारे मे पूरी जानकारी देगा के कैसे जिले का प्रशासनिक अमला मूख्य आरोपी को बचा कर मामले मे लिपा पोती पर लगा था । क्योकि ग्रामीण क्षेत्र मे राशन दूकानो पर गरीबो को अनाज मिल नही रहा ओर अनाज माफीया रात के अंधेरे मे ट्रको से गूजरात ओर महाराष्ट्र अनाज को बेच रहे है । जबकी देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गरीबो को निशुल्क अनाज दे रहे है । वो सारा अनाज आता तो है गरीबो के लिए लेकिन यहा आलीराजपुर जिले मे वो सारा निशुल्क अनाज माफीयाओ के घर भरने मे जा रहा है इस पूरे प्रकरण मे सीएम से मांग करेंगे के इस गोरख धंधे मे शामिल माफीयाओ के खिलाफ प्रशासन कार्रवाई करे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here