क्षेत्र में हुई चोरी की वारदात का पुलिस ने किया खुलासा

1399

 

@वॉइस  ऑफ  झाबुआ

फरियादी सुनिल ठाकुर ने बताया कि वह विक्टर फाईनेंस कंपनी झाबुआ का ब्रांच मैनेजर है। दिनांक 02.01.2023 की सुबह 06 बजे स्टाप के सदस्य निलेश मेडा का फोन आया कि उसकी हीरो स्प्लेंडर प्लस मोटर साइकल ब्रांच के सामने खड़ी नहीं है तथा लॉकर में रखे नगदी रूपये भी नहीं है। रात्री 12 बजे से सुबह 06 बजे के मध्य कोई अज्ञात व्यक्ति ब्रांज में घुसकर लॉकर का लॉक तोड़कर नगदी एवं निलेश मेडा की मोटर सायकल चोरी कर ले गये। लॉकर वाले रूम में निलेश मेडा व बबलु सिंगाड सोये थे एवं पीछे वाले रूम में बबलु मेडा, गुलाबसिंह मेडा, अजय ठाकुर, आशाराम, रमेश, संदीप मालवीय सो रहे थे। जिस पर थाना कोतवाली में चोरी का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया। उक्त चोरी की वारदात को देखते हुए पुलिस अधीक्षक झाबुआ अगम जैन द्वारा घटनास्थल का निरीक्षण किया गया। घटनास्थल का निरीक्षण करने पर घटना के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त की गई एवं जिस पर उक्त चोरी की वारदात का खुलासा करने में कुछ विशेष बिंदुओ पर कार्य करने हेतु अति. पुलिस अधीक्षक प्रेमलाल कुर्वे एवं एसडीओपी झाबुआ सुश्री बबिता बामनिया के मार्गदर्शन में थाना कोतवाली की पुलिस टीम एवं टेक्निकल टीम को इस हेतु लगाया गया।

घटना का खुलासा

पुलिस टीमों द्वारा चोरी की वारदात वाले स्थान का निरीक्षण किया गया। घटनास्थल का निरीक्षण करते समय घटनास्थल कुछ संदेहास्पद लगा। जिस रूम में लॉकर रखा हुआ था उस रूम में निलेश मेडा व बबलु सिंगाड सोये हुए थे व लॉकर में एक पिन फसी हुई थी। जिस पर सभी लोगों से पुछताछ की गई तो उसमें से निलेश मेडा घुमा फिराकर इधर-उधर की बात कर रहा था। जिस पर पुलिस टीम द्वारा सख्ती से पुछताछ की गई तो उसने सारा राज उगल दिया। आरोपी निलेश मेडा द्वारा बताया गया कि दो दिन पूर्व उसने उक्त घटना को अंजाम देने की योजना बनाई। इस हेतु उसने लॉकर की दुसरी चाबी को जो कि रूम में ही रखी हुई थी, जिसको अपने पास रख लिया। फिर घटना दिनांक 02.01.2023 की मध्य रात्री को जब सब सो गये थे तो उसके बाद वारदात को अंजाम देकर अपनी मोटर सायकल से कल्याणपुरा जाकर अपने भाई कमलेश को चोरी वाले रूपये व मोटर साइकल को दे दिया व फिर उसका भाई कमलेश, निलेश मेडा को झाबुआ छोड़ने आया। ग्राम रूपापाड़ा से कमलेश व एक नाबालिग अपचारी कल्याणपुरा आये थे।

जप्त सामग्री

01. 9 लाख 8 हजार रूपये
02. मोटर सायकल किमती 50,000/-रू.
कुल जप्त मश्रुका 9,58,000/-रू.
आरोपियों के नाम :-
01. निलेश पिता सम्भूसिंग मेडा निवासी रूपापाड़ा रायपुरिया (गिरफ्तार)
02. कमलेश पिता सम्भूसिंह मेडा निवासी रूपापाड़ा रायपुरिया (फरार)
03. एक नाबालिग अपचारी (फरार)

सराहनीय कार्य में योगदान

संपुर्ण घटनाक्रम का खुलासा करने में थाना प्रभारी कोतवाली निरी. सुरेन्द्र सिंह गाडरिया, उनि कैलाशचंद्र सिर्वी, उनि मोहन सिंह सोलंकी, उनि सुनिता चौहान, सउनि जगदीश नायक, सउनि केके तिवारी, सउनि गोपाल सिंह सोलंकी, प्रआर. रमेश, आर. 30 गमतु, आर. रतन, आर. जितेन्द्र पुरी, आर. मनोहर, आर. आशीष, आर. रामप्रताप एवं आर. 98 मंगलेश पाटीदार, आर. 552 महेश प्रजापति, आर. 573 संदीप बघेल, आर. 193 दीपक पटेल का सराहनीय योगदान रहा। उक्त सराहनीय कार्य पर पुलिस टीम को पुलिस अधीक्षक झाबुआ द्वारा पुरूस्कृत करने की घोषणा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here