जिला अध्यक्ष खुद केंद्र और राज्य सरकार के कार्य का निरीक्षण कर रहे

489

 

 

सोशल मीडिया के माध्यम से लगातार आ रही शिकायत और जनप्रतिनिधि द्वारा भी मामले की सूचना दी थी उसी के चलते स्वयं आज भाजपा जिला अध्यक्ष भानू भूरिया ने निरीक्षण किया,ग्राम पंचायत बालवासा जनपद पंचायत थांदला में जल संसाधन विभाग द्वारा स्वीकृत निर्माणधीन बालवासा बैराज का निरीक्षण किया,जिसकी लागत करीब 7 करोड़ 22 लाख है,निरीक्षण के दौरान थांदला जनपद अध्यक्ष जालम भाई डामोर, बालवासा सरपंच मन्नू डामोर, वरिष्ठ नेता मलसिग डामोर, कमलेश दातला, बोरी मण्डल अध्यक्ष ज्ञानसिंह मोरी और अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधि भी उपस्थित रहे।उक्त कार्य के निर्माण में गम्भीर अनिमियता और खराब क़्वालिटी की शिकायतें आए दिन सोशल मीडिया और स्थानीय जनप्रतिनिधियों के माध्यम से प्राप्त हो रही थी,जिसको लेकर मेरे द्वारा स्वयं बैराज निर्माण स्थल का निरीक्षण किया गया,निर्माण की तकनीकी खामियों को मौके पर जाकर देखा गया।

निरीक्षण के दौरान निम्नलिखित गंभीर लापरवाही और कमियां देखी गई….

1-निर्माण किए गए बैराज की वाल(दीवार) 4,5 जगह से क्रेक हो चुकी हैं, जो कि बांध निर्माण में घोर लापरवाही की गवाही स्वतः दे रही हैं।
2- बिना किसी लिखित आदेश के कार्यपालन यंत्री महोदया और अनुविभागीय अधिकारी जल संसाधन विभाग थांदला द्वारा अपनी मन मर्जी से तकनीकी नियमों को ताक पर रखकर निर्माण कार्य करवाया जा रहा है ।
3-साइट पर पूर्ण निर्मित वाल पर सरिये ऊपरी लेयर पर ओवर लेप के लिए न होने से नए सरिये होल करके डलवाए जा रहे है जो कि बांध निर्माण के नियमों के विरुद्ध है, कॉन्क्रीट तोड़े बगेर सरिये को ओवरलैप नहीं कर सकते तथा सरिये को डेम की मजबूती के लिए पुराने सरिये को नए सरिये से बाधंना बहुत आवश्यक है। ड्रिल करके सरिये अंदर नए डाल सकते है किन्तु पुराने सरिये से बांधा नही जा सकता है।
4-कार्य स्थल पर साइट इंजीनियर द्वारा बताया गया कि ऐसा करने के निर्देश कार्यपालन यंत्री मैडम ने मौखिक रूप से दिए है , किन्तु लिखित में कोई आदेश जारी नही किया है। ऐसा प्रतीत होता हैं यह सब भ्रष्टाचार का खेल विभागीय अधिकारियों और ठेकेदार की मिलीभगत चल रहा है।
मेरे द्वारा शीध्र ही इस डैम के निर्माण गुणवत्ता की उच्च स्तरीय जांच के लिए माननीय मुख्यमंत्री महोदय को भौपाल पहुंच कर अवगत करवाया जाएगा ,ताकि इस बैराज के निर्माण की कमियों का पता चल सके और दोषी अधिकारियों और निर्माण कर्ता ठेकेदार पर कठोर कार्यवाही हो सके।प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिह के आदर्श अनुसार भाजपा सरकार में जिले में किसी भी प्रकार का भृष्टाचार हम नही होने देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here