अवेध रेत का भंडारण कर अवेध कारोबार में लिप्त बैज ग्राम का नीलेश राठौड़

956

 

दिलीपसिंह भूरिया

जिले का मिनी कश्मीर कहा जाने वाला कठ्ठीवाड़ अवेध व्यापार व्यवसाय के लिए सुरक्षित क्षेत्र बनता जा रहा है ।जिले के इस कठ्ठीवाडा तहसील अंतर्गत ग्राम पंचायत बैज में नीलेश राठौड़ नामक व्यापारी अपने निजी फर्म हाउस से अवेध रेत का कर रहा है कारोबार आसपास के क्षेत्र की नदियों से रेत दादागिरी से दिन भर निकालकर रात में अवेध वाहनों से रेत करता है सप्लाय ।आज बैज ग्राम के चौकीदार और ग्राम की जागरूक जनता ने इसका विरोध किया जिसका वीडियो सोसल मीडिया में वायरल हो रहा है ।जिले के खनिज अधिकारी की उड़ती नही नींद फोन लगाने का प्रयास करो और गलती से फोन लग भी जाए तो बस आश्वासन दिया जाता है ।जिले की सभी जीवित नदियों को मरणासन्न होते हुवे चुपचाप देखता रहता है जिला प्रशासन क्योंकि जिले में जितने भी शासकीय भवन और अन्य निर्माण कार्य किए जा रहे है उसमे भी अवेध रेत का ही उपयोग किया जा रहा है यह बात खुद जिला खनिज अधिकारी और जिला प्रशासन को भी पता है प्रशासन खुद चोरों के साथ तो चोरों पर केसे हो कार्यवाही एक बहुत बड़ा प्रश्न है आगे जिला खनिज अधिकारी को ग्रामीणों ने मोबाइल पर अवेध रेत भंडारण की खबर दे तो दी है क्या नीलेश राठौड़ के खिलाफ कठोर कार्यवाही होती है आगे वॉइस ऑफ झाबुआ के अगले अंक में।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here