8 लाइन रोड़ बनने से ग्रामीण का आम रास्ता हुआ पुरी तरह से बंद

15

आने-जाने के लिए रास्ता बनाने का ग्रामीणों ने कई बार दिया आवेदन

लेकिन जिम्मेदार अधिकारी कर्मचारी सुनने को तैयार नहीं

VOICE OF झाबुआ से सुनिल डामर

भारतमाला परियोजना के तहत 8 लेन रोड़ का कार्य जैसे-जैसे पुर्ण होता जा रहा है,वैसे-वैसे ही यहां ग्रामीणों के लिए मुसीबतें खड़ी होती जा रही है।ग्राम पंचायत नोगावां नगला के बलियापाडा व कालिया नोगावा कि जनता के लिए घर से निकलने के लिए रास्ता लगभग पूरी तरह से बंद हो गया है। कंपनी के अधिकारी,कर्मचारियों ने इस ओर ध्यान नहीं दिया कि 8 लाइन रोड़ चालू होने पर आम जन कि आवाजाही बंद हो जाएगी तो ग्रामीणो के लिए रास्ता कहां से रहेगा। ग्रामीणों ने रोड़ के लिए कई बार आवेदन दिया लेकिन जिम्मेदार शासन-प्रशासन के अधिकारियों ने इस ओर ध्यान दिया।वर्तमान में स्कूल के बच्चों,गांव में इमरजेंसी में एंबुलेंस तो दूर,गांव वालो को खेत में पहुंचने के लिए रास्ता बंद हो गया है।जो गांव एक ओर 8 लाईन रोड़ तीनों ओर नदी से घिरा हुआ है।जिसे ग्रामीणों के लिए रास्ता पुरी तरह से बंद हो गया है। परेशान ग्रामीण कल रोड़ की समस्या को लेकर कलेक्टोरेट जाएंगे एवं कलेक्टर मेडम को अपनी समस्या से अवगत करवाएंगे।

इनका कहना है-
भारतमाला परियोजना में बनने वाले 8 लेन रोड से बलियापाडा से नोगांवा पंचायत को जाने वाला रास्ता पुरी तरह से बंद हो गया है।गांव के बच्चों को नदी पार करके नोगांवा स्कूल आना पड़ता है। पंचायत के कार्य के लिए भी नोगांवा आना पड़ता है।गांव में कोई बिमार होने पर अस्पताल ले जाने के लिए एम्बुलेंस के आने के लिए भी रास्ता नहीं है।ग्रामीणों के कई बार आवेदन दिया लेकिन शासन प्रशासन,और परियोजना के जिम्मेदार अधिकारी कर्मचारी भी इस पर कोई ध्यान नही दे रहे हैं। इस संबंध में कल दिनांक 23/11/2022 को गांव की समस्या को लेकर कलेक्टर मेडम को आवेदन दिया जाएगा अगर जल्द से जल्द समस्या का निराकरण कर रास्ता नहीं बनाया जाता है तो हमें मजबूरन धरना प्रदर्शन करना पडेगा।जिसकी समस्त जिम्मेदारी शासन-प्रशासन की रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here