जिला कलेक्टर महोदय इसकी जांच होनी चाहिए?

486

दिलीप सिंह भूरिया

अलीराजपुर जिले के शिक्षा विभाग और ठेकेदार की मिली भगत से निर्माणधीन ग्राम पंचायत बंद में एक निर्माणाधिक भवन घटिया सामग्री के प्रयोग से निर्माण से पहले ही जर्जर होकर गिरने को है साथ ही भवन में जिस भी ठेकेदार ने निर्माण किया होगा वह निर्माण में घटिया सामग्री और घटिया तकनीकी से निर्माण किया जिससे भवन पूर्ण होने से पहले ही भवन की दीवारों ने दरार और वह कभी भी गिर सकती है जिससे कोई बड़ी जनहानि हो सकती है ।अलीराजपुर जिले में जिस भी विभाग को देखो और उनके अधिकारियों को देखी आदिवासी क्षेत्र के विकाश के लिए आई करोड़ों रुपए की राशि का भ्रष्टाचार कर अपनी तिजोरी भरने का काम किया जाता है ।अलीराजपुर के चारो ओर कोई भी निर्माण कार्य होता है वह कार्य निर्माण से पूर्व ही अधिकारी और कर्मचारी और निर्माण कार्य करने वाला ठेकेदार कमिसन के खेल में उलझकर अपनी घटिया रीति नीति से भवन का निर्माण भी घटिया तरीके से करने के कारण जिले भर में हर भवन घटिया तरीके से और घटिया निर्माण हो रहे है ।जिले के जिला कलेक्टर महोदय जिले के शिक्षा विभाग के अधिकारी जिनमे बीईओ बीआरसी और जनशिक्षको की जवाबदारी होती है की शिक्षा विभाग के द्वारा बनाई जाने वही प्रत्येक बिल्डिंग और भवन को अपनी निगरानी में निर्माण करवाया जावे चाहे वह भवन कोई भी ठेकेदार बना रहा हो शिक्षा विभाग के अधिकारी एवम कर्मचारिया को विशेष ध्यान और निगरानी करनी चाहिए।अलीराजपुर शिक्षा विभाग के बंद के जो भी।अधिकारी या कर्मचारी है क्या उनका ध्यान नहीं है इस और या वह इस और ध्यान ही नही देना चाहते है की यह भवन मजबूत बने और इसका निर्माण ईमानदारी से ठेकेदार करे।क्या इन अधिकारियों और कर्मचारियों ने भवन निर्माण स्थान का निरीक्षण किया भी नही यह प्रश्न उठ रहा है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here