बहुत अरशो बीतने के बाद  अचानक याद आया आंगनवाडी भवन यह भवन वही है…..  जहा कुछ दिनों पहले रोड कंपनी के मजदूर ने आशियाना बनाया था।

275

बहुत अरशो बीतने के बाद 

अचानक याद आया आंगनवाडी भवन

यह भवन वही है…..

 जहा कुछ दिनों पहले *रोड कंपनी* के मजदूर ने आशियाना बनाया था।

वॉइस ऑफ झाबुआ

मुकेश कुमावत

पिपलौदा तहसील के गांव रणायरा मे आंगनवाडी का भवन बनकर शोभा बडा रहा है। अभी तक भवन का उद्घाटन नही हुआ ।लगभग दो साल होने आये भवन निर्माण पुर्ण हुए लेकिन जिम्मेदारो उच्च अधिकारी व तत्कालीन पंचायत अधिकारी न जानै किससे फिता कटवाने की राह देख रहै है। ना आंगनवाडी भवन को जिस क्रमांक का है उस कार्यकर्ता के हेंड ओवर किया ओर ना भवन की साफ सफाई ओर आसपास की झाडीया साफ करवाने की जरुरत समझी आलम ये है की भवन परिसर मे इतनी बडी झाडीया हो गयी की बच्चे तो दुर बडे भी ना दिख पाये ।ऊपर से शराब की बोतले अलग शोभा बडा रही है । आए दिन भवन के परिसर में कुछ उपद्रव मदिरा पान करते हैं।अचानक एक हफ्ते के अंदर ही राजनीतिक सरगर्मी मे भवन को लेकर शिकायत का दोर भी चालु हो गया ओर इसमे आंगनवाडी प्रांरभ करने की सुचना आयी आंगनवाडी के आसपास की झाडीयो की सफाई के साथ खूद आंगनवाडी क्रमी ने अंदर साफ सफाई व गंदगी साफ करी बतादे इस भवन मे रोड निर्माण कंपनी के मजदुर भी कुछ दिन रह चुके है।

-इंद्रा पाटिदार(आंगनवाडी कार्यक्रता क्रमांक 3)-सुचना दी गयी की आंगनवाडी भवन मै संचालीत की जाये तो आसपास की गंदगी ओर झाडीया साफ सफाई की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here