विधायक को अंधेरे में जमकर करली ठेकेदारी

351

सुना है झकनावदा जैसा एक गांव ऐसा भी है जिस गांव के लोग भक्ति भाव मे हमेशा लीन रहते थे हमेशा धार्मिक आयोजन के लिए यह गांव काफी प्रसिद्ध था पास में ही धार्मिक स्थल भी इस गांव में मौजूद है जहां धर्म की गंगा हमेशा बहती रहती है …ओर जबसे इस मोटे ने अपनी झांकी गांव में जमाने के लिए गांव के युवाओ को भारी भरकम सपने दिखाए ओर उन्हें नशे की जद में लगा दिया युवा लगातार नशे के गर्त में समाते गए और इनके कहने पर अवैध कार्यो को अंजाम देते गए और जी हुजूरी करते गए जिस कारण गांव के युवा रोजगार करते करते बेरोजगार तक होने लगे और युवाओ के माता पिता भी परेशान होने लगे बेचारे माता पिता भी क्या करते लड़के जद में ही ऐसे आ चुके थे….गांव में कुछ भी कार्यक्रम हो मोटा अपनी राजनीति चमकाने आ जाता और सामाजिक कार्यक्रम को बिगाड़ कर चले जाता और समाज को गुमराह भी करता और इतना झूठ बोलता की जिसकी हद नही लोगो ने खूब झूटी वाहवाही सुनी पर सुने भी कितनी मोटा तो इतना दोगला है कि अब गांव की जनता भी समझ चुकी थी और पिछली बार चुनाव में ऐसा हारा की मुह दुखाने लायक नही रहा गांव के समझदार पंचों ने मोटे दारुढ़ियो को ऐसा निपटाया की आज भी मोटा मुह मिट्ठू मिया उनके सामने बनकर रहता है पर टस ऐसे रखता है कि इनको निपटा देगा पर अब उस मोटे को कोंन समझाए की गांव की जनता अब समझ चुकी है धार्मिक जनता अब भड़कने वाली नही है तेरा न लेना न देना फिर क्यो अड़ंगा लगा रिया समाज को …….यर वही मोटा है जिसने कोंग्रेस की सरकार में विधायक साहब को साथ मे रखकर दगा दिया और जमकर मांल कमाया ओर सत्ता गई तो बदल ली पार्टी …..यह मोटा ख्वाब तो बड़े बड़े देखता है पर इस मोटे से होने वाला कुछ नही है ये मोटा सिर्फ फेकता है और फेकता रहेगा ……अब जाते जाते एक ओर बात बोल रिया हु इस मोटे दारुढ़िये को की जितना मांल गरीब जनता का खाया है वो सब वसूल होगा और तेरी अय्यासी का पूरा काला चिट्ठा भी जनता के सामने होगा तूने क्या क्या गुल खिलाए क्या नही सब मालूम है ….तेरी कहा कहा बन्दी है कहा कहा तू थूक कर चाटता है तू क्या जनता की सेवा करेगा अब तेरे गांव की जनता तेरी सेवा करेगी अब जा रिया जय राम जी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here