दीपावली त्योहार के चलते  बाजारों में भीड़

201

थांदला त्योहारों का सीजन शुरू हो गया है। खरीदारी के लिए बाजार में भीड़ उमड़ने लगी है। क्यो की थांदला नगर के आसपास 67 गांव लगते है जो की ग्रामीण नगर में ही खरीदारी को आते है जिसे नगर में भीड़ देखने को मिलती है l साथ ही सामान्य दिनों में भी बाजार में अव्यवस्था के कारण ट्रैफिक जाम तो लगता ही था। लेकिन अब बाजारों में सामान्य दिनों की अपेक्षा दो से ढाई गुना भीड़ उमड़ रही है, ऐसे में वाहन से निकलना तो दूर आदमी का पैदल चलन भी मुस्किल हो गया। नगर की सबसे बड़ी समस्या पार्किंग का न होना है। नगर परिषद और ट्रैफिक पुलिस ने इससे निपटने के लिए अभी तक कोई कार्ययोजना तैयार नहीं की है।जिस वजह से  बाजार के हर हिस्से पर ठेले लगे हैं। वहीं दुकानदारों ने अपनी दुकानों से आगे बड सड़कों के किनारे अपना सामान सजा रखा है। जिस हिस्से पर चौड़ी सड़कें हैं, वहां भी अतिक्रमण के कारण आवाजाही में दिक्कत होना आम बात है। बाजार एरिया में अतिक्रमण न हटने और पार्किंग की बेहतर व्यवस्था न होने से कारोबारियों के अलावा ग्राहक भी परेशान हैं। व्यवसायियों का कहना है कि दिवाली त्योहार के पहले बाजार की व्यवस्था बेहतर बनाने पर्याप्त समय रहता है। पर इस और किसी का ध्यान नही जाता है साथ ही अतिक्रमण और पार्किंग व्यवस्था बदहाल होने से व्यवसाय प्रभावित होती है। साथ ही नगर के बाहर से बाईपास होने के बाउजुद भी आयदिन बड़े व्हान नगर से हो कर गुजरते हे इस कार्ड भी ट्रैफिक जाम की इस्थती बिगड़ती हे इस और भी पुलिस प्रशासन को कोई ध्यान नही होता हे l

एमजी रोड पर बैंक के बहार पार्किंग नही होने से लोग जहा तहा खड़े कर रहे अपने वहान

बाजार में दुकानदारों द्वारा सड़क पर अतिक्रमण किए जाने से हर रोज ट्रैफिक जाम होता है। इसी प्रकार एमजी  रोड पर संचालित बैंकों के बाहर पार्किंग व्यवस्था नहीं होने से बैंक उपभोक्ता रोड पर अपने वाहन पार्क कर रहे हैं। जिससे हर रोज दिन में 15 से 20 बार 10 से 15 मिनट का ट्रैफिक जाम हो रहा है। वहीं कई बार तो भारी वाहन निकलने से यह जाम आधे घंटे से अधिक का लग जाता है। साथ ही अनाज वियापरियो की गाड़ियों की वजह से भी हमेशा यहां पर ट्रैफिक जाम का सामना आम लोगों को करना पड़ता है कई बार इन्हें पुलिस प्रशासन द्वारा भी समझाइश दी गई परंतु यह अनाज व्यापारी किसी की सुनने को तैयार नहीं और पुलिस प्रशासन उनके ऊपर कोई कठोर कार्रवाई नहीं करने से यह अपनी मनमानी करते नजर आते हैं lत्योहार के समय बाजार में अतिक्रमण पर नगर परिषद को एक्शन लेना होगा। बाजार में व्यवसाय करने वालों को भी अतिक्रमण करने से रोकना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here