अखिल भारतीय हिंदू युवा जनजाति संगठन ने 5 वा स्थापना दिवस मनाया

27

 

@Voice  ऑफ  झाबुआ

हिंदू युवा जनजाति संगठन भारत देश के चार से पांच राज्यों में लगभग जनजाति बाहुल्य क्षेत्रों में पहुंच चुका है, मध्य प्रदेश के एक छोटे से गांव काकनवानी क्षेत्र से बना यह संगठन आज देश और प्रदेश भर में जनजाति समाज के रीतिरिवाज, परंपरा, संस्कृति एवं हिंदू धर्म की रक्षा हेतु हमेशा तत्पर खड़ा रहता है।
संगठन ने जनजाति क्रांतिकारी जेसे शबरी माता, राणा पूंजा भील, टंट्या मामा, बिरसा मुंडा, रानी दुर्गावती, भीमा नायक, के जन्म दिवस एवं बलिदान दिवस मनाने का कार्य शुरू किया। आज संगठन द्वारा भगवान बिरसा मुंडा की जयंती पर पूरे देशभर में राष्ट्रीय जनजाति गौरव दिवस का कार्यक्रम , संगठन की सबसे बड़ी उपलब्धि है।साथ ही साथ लगातार पांच वर्षों से आदिवासी क्षेत्रों में ईसाई मिशनरियों द्वारा जो धर्मांतरण रूपी जो जहर घोला जा रहा है उसको खत्म करने के लिए निरंतर प्रयास करते जा रहा ,आदिवासी क्षेत्रों में शिक्षा , स्वास्थ्य , पलायन जैसी गंभीर समस्याओं को लेकर धरातल पर कार्य किया जा रहा,जगह-जगह ग्रामीण क्षेत्रों में धर्म की अलख जगाई जा रही हैं। आज संगठन ने लगभग 5 वर्ष पूर्ण कर लिए , और कई सारी उपलब्धियां प्राप्त कर ली। साथ ही कई विधर्मी संगठन बने उनको एवं कई पार्टियों की आंख में दम कर के रखा।आज थांदला में संगठन के कार्यकर्ताओं ने वागड़िया फलिया स्थित भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा पर माल्यार्पण करके 5 वा स्थापना दिवस मनाया।जिसमें आज हिंदू युवा जनजाति संगठन के संगठन मंत्री अकलेश रावत ‘ वरिष्ठ वरसिंह भगत , समाजसेवी दिलीप डामोर, समाजसेवी दुला भूरिया , थांदला ब्लाक कोषाध्यक्ष नीलेश निनामा, मुकेश निनामा, सक्रिय कार्यकर्ता रमेश बारिया, प्रताप सिंह अमलियार , शिवा सिंगाड,रिंकू निनामा, संजय मकवाना, विजय वसुनिया, दिलीप भाभोर, जीवा, राकेश, शंकर रावत, मतियास आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here